किसान आंदोलन से थमी रफ़्तार, बढ़ सकता है आपके किचन का बजट भी

श्रीनगर से सेबों के ट्रक भरकर 24 घंटे में आजादपुर मंडी पहुंच जाते हैं.  लेकिन जाम में फंसे होने की वजह से फल और सब्जियां लगातार खराब हो रही हैं. 

किसान आंदोलन से थमी रफ़्तार, बढ़ सकता है आपके किचन का बजट भी

नई दिल्ली: 'किसान आंदोलन' की वजह से कई हाइवे और रास्तों पर लंबा जाम लग गया है. ऐसे में दिल्ली के बॉर्डर पर कई ट्रक 48 घंटे से फंसे हुए हैं. उनमें रखे फल और सब्जियां जो 24 घंटे में मंडी पहुंचनी थीं. अब धीरे-धीरे खराब हो रही हैं. इस जाम का सीधा असर आपके किचन बजट पर पड़ सकता है. 

प्रयागराज की सड़कों पर खड़े थे 'यमराज', बोले- "नियमों का पालन न किया तो ले जाऊंगा अपने साथ"

48 घंटे से जाम में फंसे हैं फल-सब्जियों के ट्रक 
पंजाब और हरियाणा के किसान नेशनल हाइवे सोनीपत के कुंडली बॉर्डर पर लगातार डटे हुए हैं. उन्हें रोकने के लिए पुलिस भी मुस्तैद खड़ी है. जिस वजह से हाई-वे पर कश्मीर से फल लेकर दिल्ली की आजादपुर मंडी को जाने वाले सैकड़ों ट्रक फंसे हुए हैं. हालात ये हैं कि उनके ड्राइवर्स के लिए पिछले तीन दिन से खाने-पीने की व्यवस्था भी नहीं हो पा रही है. 

'लव जिहाद' अध्यादेश पर राज्यपाल की भी मुहर, बना कानून 

खराब हो रही हैं सब्जियां 
श्रीनगर से सेबों के ट्रक भरकर 24 घंटे में आजादपुर मंडी पहुंच जाते हैं.  लेकिन जाम में फंसे होने की वजह से फल और सब्जियां लगातार खराब हो रही हैं. ट्रक ड्राइवरों का कहना है कि वह बेहद परेशान हैं. सरकार से उनकी मांग है कि उनकी गाड़ियों को जाम से निकाला जाए. 

7 दिन बाद जिंदगी की जंग हार गई अमेठी की बेटी, छेड़खानी से तंग आकर लगाई थी आग

नहीं बदले हालात तो बिगड़ सकता है मामला 
बॉर्डर पर स्थिति तनावपूर्ण बन रही है. ऐसा लग रहा है कि अगले 24 घंटे तक इस स्थिति में बदलाव नहीं होने वाला है. अब देखना है कि गाड़ियां जिनमें लाखों की फल और सब्जियां खराब हो रही हैं, उनका क्या होगा? अगर हालात नहीं बदलते हैं, तो इसका असर आपके किचन बजट पर पड़ सकता है. 

क्यों विरोध कर रहे हैं किसान 
किसान इस समय नए कृषि कानून का विरोध कर रहे हैं. 'दिल्ली चलो' आंदोलन के जरिए पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसान दिल्ली की ओर कूच कर रहे हैं. ख़ासकर उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा में इस आंदोलन का असर देखा जा रहा है. 

UP WATCH LIVE TV