उत्तराखंड: शहीद राहुल के घर में छाया मातम, पिता ने जताया बेटे की शहादत पर गर्व

राहुल के घर पहुंचे सेना के जवान राहुल की शहादत को नमन करते हुए कहते हैं कि हमारी सेना और प्रधानमंत्री को करारा जवाब पाकिस्तान को देना चाहिए. एक के बदले 4 शव दुश्मन आने चाहिए. 

 उत्तराखंड: शहीद राहुल के घर में छाया मातम, पिता ने जताया बेटे की शहादत पर गर्व
आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद जवान राहुल रैंसवाल

ललित मोहन भट्ट/चंपावत: पुलवामा के पंपोर इलाके में मंगलवार को आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद जवान राहुल रैंसवाल चंपावत जिले के रहने वाले हैं. शहीद राहुल रैंसवाल तल्लादेश के रियासीबमन गांव के मूल निवासी और 50 आरआर के जवान राहुल का परिवार अभी चंपावत के कनलगांव में रहता है. अभी राहुल का पार्थिव शरीर चंपावत नहीं पहुंचा है. लेकिन राहुल की शहादत की खबर सुनकर लोगों की भीड़ उनके घर मे जुटने लग गयी है.

राहुल के घर का माहौल काफी गमगीन है, दुख बांटने वालों की भीड़ लगी है लेकिन इन सबके बीच पूर्व सैनिक रह चुके राहुल के पिता को राहुल की शहादत पर बहुत गर्व है. वह कहते हैं कि मैं भी अगर राहुल के साथ होता तो चार आतंकियों को फाड़ देता. वहीं राहुल के घर पहुंचे सेना के जवान राहुल की शहादत को नमन करते हुए कहते हैं कि हमारी सेना और प्रधानमंत्री को करारा जवाब पाकिस्तान को देना चाहिए. एक के बदले 4 शव दुश्मन आने चाहिए. 
 
इस बीच लोगों ने राहुल के घर में वंदे मातरम भारत माता की जय, ऑल राहुल जिंदाबाद, राहुल तेरा यह बलिदान याद रखेगा हिंदुस्तान के नारे लगाए. राहुल की मां का और पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है राहुल की 8 माह की बेटी को पकड़े राहुल की पत्नी राहुल के पार्थिव शरीर का इंतजार कर रही है. 

आज देर शाम तक पहुंच सकता है पार्थिव शरीर
आतंकियों के हमले में 18 कुमाऊं (अभी 50 आरआर) के जवान राहुल रैंसवाल की शहादत हो गई. उनके अलावा जम्मू-कश्मीर पुलिस के एसपीओ राजोरी निवासी शाहबाज अहमद भी शहीद हो गए. दो आतंकियों के मारे जाने की भी सूचना आई, लेकिन तलाशी के दौरान किसी का शव बरामद नहीं हो पाया है. इलाके में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन लगातार जारी है.

शहीद राहुल रैंसवाल (25) के पिता वीरेंद्र सिंह रैंसवाल इस वक्त पत्नी हरू देवी के साथ चंपावत के कनलगांव में रहते थे. राहुल 2012 में फौज में भर्ती हुआ था. जबकि शहीद का बड़ा भाई राजेश रैंसवाल भी 2009 से फौज में है, और इस वक्त 15 कुमाऊं में लखनऊ में तैनात हैं.