close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पत्नी को कमरे में बंद कर सौतेली बेटी का कर रहा था रेप, लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला

घटना की जानकारी बाद पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को जिला अस्पताल में पहुंचाया, जहां से उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया, जहां उसकी मौत हो गई. 

पत्नी को कमरे में बंद कर सौतेली बेटी का कर रहा था रेप, लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला
पुलिस मामले की जांच कर रही है.

संभल: यूपी के संभल से एक शर्मनाक खबर सामने आई है, जहां एक अधेड़ ने अपनी है सौतेली बेटी को हवस का शिकार बनाया. मामाला सामने आने के बाद गुस्साएं लोगों ने उसे बहुत पीटा. घटना की जानकारी बाद पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को जिला अस्पताल में पहुंचाया, जहां से उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया, जहां उसकी मौत हो गई. 

मामला संभल के नखासा थाना इलाके का है. जानकारी के मुताबिक, नखासा थाना इलाके के गांव निवासी किशोरी का सौतेला पिता पिछले एक महीने से अपनी सौतेली बेटी के साथ बार-बार दुष्कर्म कर रहा था. लेकिन जैसे ही किशोरी की मां दुष्कर्म का विरोध करती थी तो कलयुगी पिता पत्नी के साथ मारपीट कर उसको कमरे में बंद कर देता था. पिछले कुछ समय से बार-बार अपने सौतेले पिता की हवस का शिकार बन रही किशोरी को गुरुवार रात को एक बार फिर कलयुगी पिता लोकेशन अपनी हवस का शिकार बनाने की कोशिश की लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाया.

शुक्रवार सुबह कमरे में बंद कर एक बार फिर आरोपी लोकेश ने अपनी सौतेली बेटी के साथ दुष्कर्म किया तो किशोरी ने शोर मचा दिया. किशोरी के चिल्लाने पर पीड़िता की मां और उसके अन्य परिजन आपा खो बैठे. आपत्ति जनक हाल में आरोपी को देखने के बाद परिजनों ने पहले आरोपी को चारपाई से बांधा और पिर उसकी पिटाई शुरू कर दी, जिसके बाद वह बिहोश हो गया.  

घटना की जानकारी नखासा थाना पुलिस को मिली तो इंस्पेक्टर जितेंद्र सिंह पुलिस बल के साथ गांव पहुंचे, जहां उन्होंने घर में घुस कर देखा तो आरोपी लोकेश के हाथ-पैर चारपाई से बंधे हुए थे और वह चारपाई पर अचेत पड़ा हुआ था. पुलिस ने आनन-फानन में चारपाई पर बंधे आरोपी को खोलकर इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया. साथ ही थाने पहुंची पीड़िता की मां की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया और किशोरी को मेडिकल परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेजा. 

इसी बीच दोपहर बाद जिला अस्पताल में भर्ती आरोपी पिता की हालत बिगड़ने लगी तो चिकित्सक ने उसे हायर सेंटर सेफर कर दिया. मुरादाबाद ले जाते समय उसने रास्ते में दम तोड़ दिया.