कौशांबी: फर्जी डिग्री के सहारे नौकरी पाने वाले बर्खास्त 3 पूर्व शिक्षकों पर FIR

बीएसए राजकुमार पंडित के मुताबिक कुल 10 शिक्षकों की बीएड की डिग्री में गड़बड़ी पाई गई थी और अगस्त 2019 में सभी को बर्खास्त कर दिया गया था.

कौशांबी: फर्जी डिग्री के सहारे नौकरी पाने वाले बर्खास्त 3 पूर्व शिक्षकों पर FIR
तीनों की डिग्री फर्जी एसआईटी जांच में पाई गई थी.

मो. गुफरान/कौशांबी: उत्तर प्रदेश में फर्जी शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई जारी है. कौशांबी जिले में फर्जी बीएड की डिग्री से नौकरी हासिल करने के आरोप में बर्खास्त तीन पूर्व शिक्षकों के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है. आरोपियों में दो महिला शिक्षक भी हैं. तीनों की डिग्री फर्जी एसआईटी जांच में पाई गई थी.

बीएसए राजकुमार पंडित के मुताबिक कुल 10 शिक्षकों की बीएड की डिग्री में गड़बड़ी पाई गई थी और अगस्त 2019 में सभी को बर्खास्त कर दिया गया था. 5 पूर्व शिक्षक ऐसे भी मिले जिन्होंने जुगाड़ से अपने नंबर बढ़वाकर मार्कशीट लगाई. जांच की जद में आए सभी शिक्षकों ने वर्ष 2010 में आगरा के डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्विद्यालय की बीएड की डिग्री लगाकर नौकरी हासिल की थी.

बीएसए राजकुमार पंडित ने बताया कि अर्चना सिंह प्राथमिक विद्यालय ननईका पूरा में तैनात थी. वहीं, लवलेश द्विवेदी पूरे घोघ विकासखंड सरसवां और अर्चना देवी प्राथमिक विद्यालय दीवार विकासखंड मंझनपुर में तैनात थी. अर्चना सिंह और लवलेश द्विवेदी के खिलाफ महेवाघाट थाना में मुकदमा दर्ज कराया गया है, वहीं अर्चना देवी के खिलाफ मंझनपुर थाना में बीएसए के निर्देश पर संबंधित एबीएसए ने एफआईआर दर्ज कराई है.