हिंदू धर्म के आदिग्रंथ वेदों की पढ़ाई के लिए उत्तराखंड यहां खोलेगा पहला विद्यालय

जोशीमठ में उत्तराखंड का पहला वेद विद्यालय खोलने की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं. जिसके लिए संस्कृत शिक्षा के सचिव विनोद कुमार रतूडी के निर्देशन में एक टीम का गठन भी किया गया है. 

हिंदू धर्म के आदिग्रंथ वेदों की पढ़ाई के लिए उत्तराखंड यहां खोलेगा पहला विद्यालय
एसपी खाली, निदेशक संस्कृत शिक्षा.

चमोली: राज्य सरकार उत्तराखंड में चारधाम की तर्ज पर 'चार वेद विद्यालय' की स्थापना करने जा रही है. इसके लिए शासन की टीम द्वारा वेदवेदांग स्नातकोत्तर संस्कृत महाविद्यालय के जोशीमठ परिसर का निरीक्षण किया गया.

बस्ती में इस हद तक लापरवाही, मानो खुले में बांट रहे हों कोरोना

जोशीमठ में उत्तराखंड का पहला वेद विद्यालय खोलने की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं. जिसके लिए संस्कृत शिक्षा के सचिव विनोद कुमार रतूडी के निर्देशन में एक टीम का गठन भी किया गया है. टीम की चेयरपर्सन, विद्यालयी शिक्षा विभाग में अपर सचिव रवनीत सीमा हैं. उनके नेतृत्व में टीम द्वारा जोशीमठ स्थित वेदवेदांग संस्कृत महाविद्यालय में वेद विषय की शिक्षा शुरू करने को लेकर भूमि व विद्यालय के भवन का निरीक्षण किया गया.

VIDEO: मुजफ्फरनगर में बरातियों ने किया 'तमंचे पर डिस्को'

बद्रीनाथ धाम में बनेगा पहला वेद विद्यालय
टीम में शामिल निदेशक संस्कृत शिक्षा एसपी खाली ने बताया कि विद्यालय के प्रधानाचार्य ने महाविद्यालय में भवनों व भूमि को दिखाया है. वेद विद्यालय के संचालन के लिए महाविद्यालय में पर्याप्त भूमि है. यहां 14 कमरे भी उपलब्ध हैं. उन्होंने बताया कि चार वेद विद्यालय को खोलने के लिये हुए संस्कृत महाविद्यालय के निरीक्षण की रिर्पोट शासन को भेजी जाएगी. शासन से स्वीकृती मिलने के बाद बद्रीनाथ धाम के निकट पहला वेद विद्यालय बनेगा.

राज्यसभा चुनाव: BSP के 7 विधायक बागी, 4 प्रस्तावकों ने वापस लिया नाम, बिगड़ गया गणित

इस अवसर पर कुल सचिव उत्तराखंड संस्कृत विश्व विद्यालय हरिद्वार जीके अवस्थी, अनुसचिव उत्तराखंड एमओ अंसारी, जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) चमोली आशुतोष भंडारी व खंड शिक्षा अधिकारी विवेक पंवार भी मौजूद थे.

WATCH LIVE TV