पूर्व विधायक आरपी कुशवाहा और सुरेंद्र कुशवाहा बसपा से निष्कासित

जिलाध्यक्ष राम शंकर कुरील ने बताया कि दोनों ही नेता पार्टी विरोधी दलों के नेताओं से मिलकर कार्य कर रहे थे. इसकी जानकारी पार्टी नेतृत्व को हो गई थी, जिसके बाद यह फैसला लिया गया है.

पूर्व विधायक आरपी कुशवाहा और सुरेंद्र कुशवाहा बसपा से निष्कासित
फाइल फोटो

कानपुर: बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) घाटमपुर (Ghatampur) के विधायक रहे आरपी कुशवाहा (R P Kushwaha) व कानपुर नगर के अध्यक्ष रहे सुरेंद्र कुशवाहा (Surendra Kushwaha) को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया. कानपुर बसपा जिलाध्यक्ष राम शंकर कुरील ने बताया कि पूर्व विधायक आरपी कुशवाहा और महानगर के पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र कुशवाहा को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है. 

उन्होंने पार्टी नेतृत्व से आदेशों के अनुपालन में दोनों नेताओं को बाहर किया है. जिलाध्यक्ष के अनुसार दोनों ही नेता पार्टी विरोधी दलों के नेताओं से मिलकर कार्य कर रहे थे. इसकी जानकारी पार्टी नेतृत्व को हो गई थी, जिसके बाद यह फैसला लिया गया है.

आरपी कुशवाहा लोकसभा चुनाव से पहले भी बसपा से निष्कासित किए गए थे, लेकिन चुनाव के समय इन्हें पार्टी में फिर शामिल कर लिया गया था. आरपी कुशवाहा बसपा के पुराने और कद्दावर नेताओं में गिने जाते हैं. आरपी कुशवाहा दो बार से बिठूर विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं लेकिन हार का सामना करना पड़ रहा है.

लाइव टीवी देखें

इनकी पत्नी रीता कुशवाहा जिला पंचायत अध्यक्ष रहीं. वहीं सुरेंद्र कुशवाहा के समर्थकों की भी अच्छी खासी संख्या है. लोकसभा चुनाव के दौरान वे पार्टी के महानगर अध्यक्ष थे. इन्हें हमीरपुर उप चुनाव में बसपा प्रत्याशी नौशाद अली के प्रचार की जिम्मेदारी देकर भेजा गया था.

दोनों नेताओं ने मीडिया में अपना बयान भी जारी किया कि पार्टी की नीतियों और नेताओं के रवैये से दुखी होकर उन्होंने बुधवार को अपना इस्तीफा पार्टी मुखिया को फैक्स कर दिया था. इसके बाद निष्कासन की सूचना जारी की गई.