सपा के पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव और उनके भाई भू माफिया घोषित, अवैध संपत्तियों पर चला बुलडोजर

सपा नेताओं ने कथित तौर पर एक मार्केट कॉम्प्लेक्स और एक फार्महाउस बनाने के लिए चिलासानी ग्राम सभा की भूमि पर अतिक्रमण किया था. पूर्व विधायक पिछले 20 साल से अपने परिवार के साथ फार्महाउस में रह रहे थे. 

सपा के पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव और उनके भाई भू माफिया घोषित, अवैध संपत्तियों पर चला बुलडोजर

एटा: समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव और उनके भाई पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेन्द्र सिंह यादव को जिला प्रशासन ने भू माफिया घोषित कर दिया है. प्रशासन ने अवैध रूप से बने मार्केट और होटल फार्म हाउस को पहले ही ध्वस्त कर दिया गया. अब तक अवैध कब्जे को लेकर दोनों भाईयों पर हाल ही में 4 मुकदमे दर्ज हुए हैं.

मृतक आश्रित कोटे से नौकरी में धांधली, KGMU प्रशासन ने दो कर्मियों की सेवा की समाप्त

अवैध संपत्ति के खिलाफ चलाअभियान 
बता दें कि दो दिन पहले अवैध संपत्ति के खिलाफ अभियान जारी रखते हुए, उत्तर प्रदेश के एटा जिला प्रशासन और पुलिस ने समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव और जिला परिषद के पूर्व अध्यक्ष जोगेंद्र सिंह यादव की संपत्तियों को नष्ट कर दिया. फार्महाउस में ग्राम सभा की करीब पांच एकड़ जमीन पर कब्जा कर मिला लिया गया था जिसे मंगलवार को कब्जामुक्त करा लिया गया.

दहेज लोभी दूल्हे और उसके पिता को दुल्हन पक्ष ने सिखाया सबक, कुर्सी से बांधकर की अच्छी खातिरदारी

किया था ग्राम सभा की भूमि पर अतिक्रमण किया 
सपा नेताओं ने कथित तौर पर एक मार्केट कॉम्प्लेक्स और एक फार्महाउस बनाने के लिए चिलासानी ग्राम सभा की भूमि पर अतिक्रमण किया था. पूर्व विधायक पिछले 20 साल से अपने परिवार के साथ फार्महाउस में रह रहे थे. 

अब तक चार मुकदमे दर्ज
बता दें कि पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष की पत्नी रेखा यादव को सपा ने जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के लिए प्रत्याशी घोषित किया है. पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष पर अब तक चार मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं. लगातार कार्रवाइयों को लेकर सपा खेमे की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं.

देश में पहली बार यहां पर लगाई गई 2 साल 8 महीने की बच्ची को वैक्सीन, ट्रायल में तीन आयु वर्ग के बच्चे शामिल

नोएडा कमिश्नरेट में बनेंगे 10 नए पुलिस स्टेशन और दो चौकी, कानून-व्यवस्था को मिलेगी मजबूती

WATCH LIVE TV