कुएं में कर रहे थे सफाई, तभी शुरू हो गया जहरीली गैस का रिसाव, दो भाईयों समेत 4 की मौत

घटना गाजीपुर जिले के नन्दगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत बुढ़नपुर गांव की है, जहां एक दलित बस्ती में एक पुराने कुएं में गंदगी जमा हो जाने के चलते दो भाइयों समेत 4 लोग सफाई करने के लिए उतरे थे कि तभी कुएं में जहरीली गैस का रिसाव शुरू हो गया और 4 युवक मौत की नींद सो गए.

कुएं में कर रहे थे सफाई, तभी शुरू हो गया जहरीली गैस का रिसाव, दो भाईयों समेत 4 की मौत
सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले के एक गांव में कुएं से निकली जहरीली गैस से 4 लोगों की मौत हो गई. ये चारों ही कुएं में सफाई करने के लिए उतरे थे, कि तभी अंदर जहरीली गैस का रिसाव शुरू हो गया और चारों युवकों की दम घुटने से मौत हो गई. मिली जानकारी के मुताबिक घटना गाजीपुर जिले के नन्दगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत बुढ़नपुर गांव की है, जहां एक दलित बस्ती में एक पुराने कुएं में गंदगी जमा हो जाने के चलते दो भाइयों समेत 4 लोग सफाई करने के लिए उतरे थे कि तभी कुएं में जहरीली गैस का रिसाव शुरू हो गया और 4 युवक मौत की नींद सो गए.

घटना के बाद पूरे गांव में मातम पसरा है. वहीं गांव के लोगों ने पुलिस को फोन कर पूरी घटना की जानकारी दी, जिसके बाद घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने शवों को कुएं से बार निकाला और कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और मामला दर्ज कर लिया है. वहीं पुलिस ने ग्रामीणों का बयान भी दर्ज कर लिया है और जांच की बात कह रही है. बता दें कि मृतकों में इंद्रजीत (26) पंकज कुमार (20) रामवृक्ष राम (32) और राम अवतार (18) शामिल हैं. हादसे में 4 लोगों की एक साथ मौत से पूरे गांव में कोहराम मच गया है. 

मेरठ: 4 पेज का सुसाइड नोट छोड़ फंदे पर लटका पूर्व पार्षद, जांच में जुटी पुलिस

ग्रामीणों के मुताबिक पिछले दो दिनों से गांव के पुराने कुएं की सफाई में लगे हुए थे. आज इंद्रजीत सबसे पहले कुएं में उतारा था कि अचानक कुएं से जहरीली गैस का रिसाव शुरू हो गया, जहरीली गैस के प्रभाव से इद्रजीत तड़पने लगा. इंद्रजीत को तड़पते देख पंकज अपने भाई को बचाने के लिए कुएं में कूद गया. जिसके बाद पंकज भी तड़पने लगा. दोनों भाइयों को तड़पते देख मौके पर मौजूद दो युवक रामबृक्ष और रामावतार भी बचाने के लिए कुएं में कूद गए, लेकिन कुएं में फैली जहरीली गैस की चपेट में 4 युवकों की मौत हो गई.

हापुड़ में दलित महिला का गैंगरेप, FIR दर्ज करने में पुलिस ने की आनाकानी तो खुद को लगाई आग

वहीं घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुच आपदा प्रबंधन अधिकारी अशोक राय ने बताया कि सभी के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. हादसे में मारे गए सभी युवकों के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से 4 लाख मुआवजा परिजनों को दिया जाएगा. पुलिस के मुताबिक तीनों की ही मौत की वजह दम घुटना है, हालांकि अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट का आना बाकि है. उसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है.