close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हल्द्वानी: 20 सालों से 14 हजार लोग पी रहे हैं उधार का पानी, 22 करोड़ का बिल बकाया

सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी के मुताबिक ये खुलासा हुआ है. 

हल्द्वानी: 20 सालों से 14 हजार लोग पी रहे हैं उधार का पानी, 22 करोड़ का बिल बकाया
पेयजल संस्थान ने अब तक इनके खिलाफ कोई उचित कार्रवाई नहीं की है.

नई दिल्ली/हल्द्वानी: हल्द्वानी में जल संस्थान का करीब 22 करोड़ का बिल 14 हज़ार लोगों पर बकाया है. सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी के मुताबिक ये खुलासा हुआ है. 660 पन्नों में मिली इस जानकारी में जनता केवल उधार का पानी पी रहे हैं और पेयजल संस्थान ने अब तक इनके खिलाफ कोई उचित कार्रवाई नहीं की है.

ये भी पढ़ें: 'सूचना का अधिकार' कानून में संशोधन की तैयारी में है केंद्र सरकार

ठीक इसके उलट दूसरी तरफ जिन घरों में कई महीनों से पानी की बूंद नहीं टपकी है, वहां पेयजल विभाग बिल पर बिल भेजे जा रहा है. अब सवाल है आखिर प्रशासन की तरफ से ठोस कदम क्यों नहीं उठाए जा रहे हैं. बताया जा रहा है ये बकाया पिछले 15 से 20 साल से चल रहा है. जानकारी के मुताबिक, बकाया बिल 1000 रुपए से लेकर 50 हजार रुपए तक का है. ये हाल तब है जब हर साल विभाग मार्च में बकाया बिल वाले लोगों का वॉटर कनेक्‍शन काट देने का दावा भी करता है. 

इससे ये अंदाजा लगाया जा सकता है कि 22 करोड़ रुपये का बिल अगर बकाया हो, तो विभाग किस दशा में होगा. सरकार को हर साल कितना नुकसान हो रहा होगा. वहीं, उत्तराखंड में कई पहाड़ी इलाके आज भी ऐसे हैं. जहां पानी की बहुत किल्लत हैं.