ब्रांडेड मसालों का डुप्लीकेट बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड़, फैक्ट्री मालिक समेत 11 गिरफ्तार

 फैक्ट्री मालिक राकेश केमिकल मिलाकर नकली मसाला तैयार करता था जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक थे.

ब्रांडेड मसालों का डुप्लीकेट बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड़, फैक्ट्री मालिक समेत 11 गिरफ्तार
फोटो साभार: @amethipolice

अमेठी: उत्तर प्रदेश पुलिस ने ब्रांडेड मसालों का डुप्लीकेट तैयार कर बाजार में बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है. नकली मसाला तैयार करने वाली फैक्ट्री के मालिक सहित 11 लोगों की वाराणसी से गिरफ्तारी हुई है. पुलिस के मुताबिक, फैक्ट्री मालिक पहले भी ब्रांडेड खाद्य सामग्रियों की डुप्लीकेसी करने के मामले में जेल जा चुका है.

दरअसल, राजेश मसाला कंपनी के मालिक राजेश अग्रहरी ने पुलिस से शिकायत की थी कि बनारस से राकेश गुप्ता नाम का व्यक्ति ब्रांडेड चीजों का डुप्लीकेट बनाने में माहिर है. दो महीने जेल में रहने के बाद राकेश ने एक बार फिर सामान की डिप्लीकेसी का धंधा शुरू कर दिया है. उन्होंने बताया कि 5-6 दिन पहले कुछ लोग अमेठी में मसाला बेचने आए, उन्होंने काफी कम रेट पर दुकानदारों को माल बेचने की बात कही. जिस पर दुकानदारों ने हमें फोन किया तो पता चला की मसाले डुप्लीकेट हैं. पुलिस ने दोनों सेल्समैन को पकड़ लया था.

वहीं, आज नकली मसाले तैयार करने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक ख्याति गर्ग ने बताया कि एक फैक्ट्री मालिक बीते कई सालों से ब्रांडेड कंपनी के मसालों का डुप्लीकेट तैयार कर बाजार में बेच रहा था. नकली मसालों की फैक्ट्री के मालिक पर 2006 और 2019 में मुकदमा दर्ज हो चुका है. आरोपी कई ब्रांडेड मसालों, नमक और डिटर्जेंट का डुप्लीकेट तैयार करने के आरोप में जेल जा चुका है.

एसपी ने बताया कि 23 जून को सूचना मिली थी कि कुछ लोग राजेश मसालों के नाम पर मिलावटी मसाले बेच रहे हैं. जिसके बाद तीन लोगों को पकड़कर पूछताछ की गई तो खुलासा हुआ कि वाराणसी का रहने वाला राकेश गुप्ता नाम का शख्स उन्हें नकली मसाले मुहैया करवाता है. फैक्ट्री मालिक राकेश केमिकल मिलाकर नकली मसाला तैयार करता था जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक थे. फैक्ट्री मालिक समेत 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. फैक्ट्री से 10 लाख का रॉ मैटीरियल, मसाला बनाने के उपकरण बरामद हुए हैं. साथ ही 2 प्रिंटिंग मशीन मिली हैं, जिनकी कीमत लगभग 25 लाख है.