गौतमबुद्धनगर: कोरोना वॉरियर्स के स्वास्थ्य को लेकर प्रशासन सतर्क, पुलिसकर्मियों की मेडिकल जांच

नोएडा में सेक्टर 108 स्थित कमिश्नर के ऑफिस में टेस्ट की सुविधा दी गई है. यहां 50 साल से ऊपर की उम्र के पुलिसकर्मियों टेस्ट कराया जा रहा है. उन पुलिसकर्मियों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है जिन्हें हार्ट, डायबिटीज या कोई अन्य बीमारी है. उनके लिए रैपिड और पीसीआर टेस्ट की व्यवस्था रखी गई है. 

गौतमबुद्धनगर: कोरोना वॉरियर्स के स्वास्थ्य को लेकर प्रशासन सतर्क, पुलिसकर्मियों की मेडिकल जांच
प्रतीकात्मक फोटो

गौतमबुद्ध नगर: जिले में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते प्रशासन अब कोरोना वॉरियर्स को लेकर सतर्क हो गया है. नोएडा में कोरोना इंफेक्शन की आशंका के चलते पुलिसकर्मियों की मेडिकल स्क्रीनिंग कराई जा रही है. मेडिकल स्क्रीनिंग में संदिग्ध पाए जाने पर उनके लिए जरूरी टेस्ट भी कराए जा रहे हैं. कुछ पुलिसकर्मियों का कोरोना टेस्ट भी कराया जा रहा है. खास तौर पर 50 वर्ष की उम्र से ऊपर से पुलिसकर्मियों पर प्रशासन विशेष ध्यान दे रहा है. 

कमिश्नर दफ्तर में कराया गया टेस्ट
नोएडा में सेक्टर 108 स्थित कमिश्नर के ऑफिस में टेस्ट की सुविधा दी गई है. यहां 50 साल से ऊपर की उम्र के पुलिसकर्मियों टेस्ट कराया जा रहा है. उन पुलिसकर्मियों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है जिन्हें हार्ट, डायबिटीज या कोई अन्य बीमारी है. उनके लिए रैपिड और पीसीआर टेस्ट की व्यवस्था रखी गई है. जांच का ये काम पुलिस के COVID नोडल अधिकारी अंकुर अग्रवाल ने के नेतृत्व में हो रहा है. जिन पुलिसकर्मियों की COVID-19 जांच हुई है, उन्हें रिपोर्ट आने तक क्वारंटाइन रहने के लिए कहा गया है.

57 वर्षीय पुलिसकर्मी की कोरोना से हो चुकी है मौत 
गौतमबुद्ध नगर जिला न्यायालय में तैनात एक 57 वर्षीय पुलिसकर्मी की कोरोना से पिछले दिनों मौत हो गई. मौत से एक हफ्ते पहले उनकी कोरोना जांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. इससे पहले भी सेक्टर-49 कोतवाली के 5 से अधिक पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. ऐसे में जिले का पुलिस विभाग कोरोना संक्रमण के रिस्क में है, जिसे देखते हुए उनके लिए जांच की सुविधाएं दी जा रही हैं.  

संचारी रोग से निपटने के लिए योगी सरकार तैयार, विशेष अभियान की होगी शुरुआत

गौतमबुद्ध नगर में कोरोना की रफ्तार थम नहीं रही
मंगलवार को जिले में कोरोना इंफेक्टेड 97 मरीज में मिले जबकि 76 मरीज स्वस्थ होकर घर गए. इनमें अधिकांश की जांच इंफ्लूएंजा के लक्षण दिखने पर की गई थी. जिले में कुल संक्रमितों की संख्या अब 2304 हो चुकी है, इनमें 1506 मरीज ठीक हो चुके हैं जबकि 22 मरीजों की विभिन्न कारणों से मौत हो गई. फिलहाल 

WATCH LIVE TV