गाजियाबाद: फीस माफी को लेकर अभिभावक संघ की भूख हड़ताल 7वें दिन भी जारी, साथ आईं प्रियंका

प्रियंका गांधी ने ट्वीट करके लिखा है कि अभिवावक पिछले कुछ दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे हैं. भूख हड़ताल पर बैठी कई महिलाओं की हालत नाज़ुक है. ऐसे में प्रदेश सरकार से मांग है कि निजी स्कूलों की 3 महीने की फीस माफ की जाए और किसी भी बच्चे को शिक्षा से वंचित नहीं किया जाए. 

गाजियाबाद: फीस माफी को लेकर अभिभावक संघ की भूख हड़ताल 7वें दिन भी जारी, साथ आईं प्रियंका
भूख हड़ताल पर बैठे अभिभावक

गाजियाबाद: गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन की भूख हड़ताल जारी मंगलवार को 7वें दिन भी जारी है. पेरेंट्स एसोसिएशन का कहना है कि वे जिलाधिकारी के कार्यालय के सामने भूख हड़ताल पर बैठे हैं. आज सातवां दिन होने के बाद भी उनसे कोई अधिकारी मिलने नहीं आ रहा है. आपको बता दें कि इस दौरान 2 महिलाओं की तबियत खराब होने के बाद उन्हें अस्पताल में भी भर्ती करना पड़ा है. अधिकारियों की ओर से उन्हें आश्वासन तो नहीं मिला है, लेकिन कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी जरूर उनके समर्थन में उतरी हैं. 

प्रियंका गांधी ने समर्थन में किया ट्वीट 
प्रियंका गांधी ने ट्वीट करके लिखा है कि अभिवावक पिछले कुछ दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे हैं. भूख हड़ताल पर बैठी कई महिलाओं की हालत नाज़ुक है. ऐसे में प्रदेश सरकार से मांग है कि निजी स्कूलों की 3 महीने की फीस माफ की जाए और किसी भी बच्चे को शिक्षा से वंचित नहीं किया जाए. उन्होंने लिखा है कि सरकार को तुरंत इस मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए. 

टूट रहा है भूख हड़ताल पर बैठे अभिभावकों का सब्र 
गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन के सब्र का बांध अब टूट रहा है. उन्होंने जिला प्रशाशन को अल्टीमेटम दिया है कि शाम तक अगर निर्णय नहीं हुआ तो वे बड़ा कदम उठाएंगे. अभिभावक संघ ने जिन 3 मांगों पर मंगलवार शाम तक निर्णय देने का अल्टीमेटम दिया है, वो इस तरह हैं - 
लॉक डाउन के समय की एक तिमाही फीस माफी 
जुलाई से ऑन लाइन क्लास के हिसाब से फीस निर्धारण 
निजी स्कूलों द्वारा बंद की गई बच्चों की ऑनलाइन क्लास तत्काल प्रभाव से शुरू कराना 

कुलदीप सेंगर केस: तत्कालीन DM और 2 SP को CBI ने माना दोषी, कार्रवाई की सिफारिश 

लॉकडाउन के दौरान की फीस माफी के लिए धरना 
गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन पिछले 6 दिनों से लॉकडाउन के दौरान की 3 महीने की स्कूल फीस माफ करने के लिए धरने पर बैठा हुआ है. भूख हड़ताल को 5 दिन बीतने के बाद भी अब तक अधिकारियों की ओर से कोई फैसला नहीं लिया गया है. जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर भूख हड़ताल पर बैठे अभिभावकों का साफ तौर पर कहना है कि चाहे 15 दिन हो या 55 दिन, हम अपनी भूख हड़ताल जारी रखेंगे. हालांकि अब तक उनसे मिलने के लिए कोई अधिकारी नहीं पहुंचा है. 

WATCH LIVE TV