बरेली: छात्रा की अधजली लाश मिली, खुदकुशी या हत्या, जांच में जुटी पुलिस

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. हर पहलू पर गौर करते हुए जांच जारी है.

बरेली: छात्रा की अधजली लाश मिली, खुदकुशी या हत्या, जांच में जुटी पुलिस
प्रतीकात्मक फोटो.

सुबोध मिश्रा, बरेली: उत्तर प्रदेश के बरेली में संदिग्ध परिस्थितियों में जिंदा जलकर एक एमए की छात्रा की मौत हो गई. उसका शव घर के बाहर जला मिला. साथ ही शव के पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

यह मामला जिले के सुभाष नगर थाना क्षेत्र के रविंद्र नगर कॉलोनी का है. सुबह जब लोग उठे तो अचानक से छात्रा का जला शव देख कर उनके होश उड़ गए. घरवालों ने बताया कि वे लोग जब सुबह उठे तो उनकी बेटी घर में मौजूद नहीं थी. उसे खोजने के लिए वे जैसे ही घर से निकले तो दरवाजा बाहर से बंद था. तब उन्होंने पड़ोसियों को आवाज देकर दरवाजा खुलवाया.

घर से बाहर निकले तो देखा कि रेनू की जली हुई लाश पड़ी हुई है. रेनू की लाश देखते ही उसके परिवार में कोहराम मच गया. रेनू का शव घर के दरवाजे पर जला हुआ पड़ा था. उसके बगल में एक सुसाइड नोट भी पड़ा हुआ था. सुसाइड नोट पर लिखा हुआ है " मम्मी-पापा जाने अनजाने में हमसे जो भी गलतियां हुई हैं हमे माफ करना. मैं अपने जीवन को खत्म कर रही हूं....आपकी बेटी रेनू "

रेनू की मौत की खबर लगते ही पुलिस और फिल्ड यूनिट मौके पर पहुंची और घटना के साक्ष्य जुटाए. पुलिस ने रेनू का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. साथ ही रेनू और रेनू के भाई का मोबाइल कब्जे में ले लिया है. पुलिस ने सुसाइड नोट भी ले लिया है और पूरे मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी गई है.

इस मामले से जुड़े कई अनसुलझे सवाल हैं. पहला सवाल है की रात में छात्रा घर से गायब हो गई और किसी भी घरवाले को पता तक नहीं चला. दूसरा सवाल, अगर छात्रा ने आग लगाकर जान दी तो छात्रा के चीखने की आवाज किसी को सुनाई क्यों नहीं पड़ी, जबकि जिस गली में घर है वो काफी संकरी है और आगे से बंद है. गली में गिने चुने मकान हैं. तीसरा सवाल, अगर छात्रा ने आग लगाकर जान दी तो उसकी लाश के पड़ोस में ही सुसाइड नोट मिला वो क्यों नहीं जला. इन तमाम पहलुओं को ध्यान में रखते हुए पुलिस मामले की जांच कर रही है.