नवाबी शहर के शाही शौक, रक्षाबंधन के लिए बाजारों में छाईं सोने-चांदी की राखियां

लखनऊ के बाजार में इस बार सोने की 5 हजार रुपये से लेकर 35 हजार रुपये तक की राखियां मौजूद हैं. इसी तरह से चांदी की राखियां 150 रुपये से लेकर 2000 रुपये तक में उपलब्ध हैं. चौक इलाके में मौजूद सर्राफा व्यापारियों ने बताया कि इस बार सोने की राखियों का क्रेज ज्यादा है.

नवाबी शहर के शाही शौक, रक्षाबंधन के लिए बाजारों में छाईं सोने-चांदी की राखियां
बाजार में सजीं सोने-चांदी की राखियां

लखनऊ: रक्षाबंधन भाई और बहन के अटूट प्रेम को दर्शाने वाला त्यौहार है. ऐसे में हर बहन अपने सामर्थ्य के मुताबिक अपने भाई की कलाई पर खूबसूरत से खूबसूरत राखी सजाना चाहती है. नवाबी शहर लखनऊ में बहनों की इसी चाहत तो शक्ल की गई है सोने और चांदी से बनी राखियों की. शाही शौक रखने वाले नवाबी शहर के लोगों को ये राखियां पसंद भी खूब आ रही हैं. 

5,000 से लेकर 35,000 तक की राखियां
लखनऊ के बाजार में इस बार सोने की 5 हजार रुपये से लेकर 35 हजार रुपये तक की राखियां मौजूद हैं. इसी तरह से चांदी की राखियां 150 रुपये से लेकर 2000 रुपये तक में उपलब्ध हैं. चौक इलाके में मौजूद सर्राफा व्यापारियों ने बताया कि इस बार सोने की राखियों का क्रेज ज्यादा है. ग्राहकों को यह लगता है कि सोने का दाम बढ़ रहा है, ऐसे में ये सौदा आगे चलकर फायदे का होगा. सोने की राखियों की कीमत ज्यादा है. कुछ लोगों ने हीरे की राखी का भी ऑर्डर दिया है. चांदी की घड़ी जिनकी कीमत पांच हजार से दस हजार रुपये और चांदी की पेन भी गिफ्ट करने के लिए बाजार में उपलब्ध हैं.

इसे भी देखें: Ram Mandir: जब भूमिपूजन कार्यक्रम में होंगे सिर्फ 200 मेहमान तो किसके लिए बन रहे हैं लाखों लड्डू ?

चांदी को माना जाता है काफी फायदेमंद
कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते राखी का महत्व भी बढ़ गया है. माना जा रहा है कि चांदी की राखी बांधने पर भाई के आत्मबल में वृद्धि होगी. शास्त्रों के अनुसार चांदी के प्रयोग से दिमाग काफी तेज चलता है. इसके प्रयोग से चंद्र ग्रह से जुड़ी समस्याओं का निवारण होता है और ग्रह बाधाएं दूर होती हैं. हिंदू धर्म में धातुओं का काफी महत्व है. ऐसे में धातुओं की बनी राखियां भी खूब ट्रेंड में हैं. 

WATCH LIVE TV