close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गोरखपुर : जमीनी विवाद में महिला ने की आत्मदाह की कोशिश, बेटों के सामने खुद को किया आग के हवाले

शुरूआती जांच में महिला द्वारा निर्माण कार्य से नाराज होकर खुद के बेटों की मौजूदगी में आत्मदाह की कोशिश करने का पता चला है. मामला बढ़हलगंज थाना के पदमलपुर गांव के पास का है.

गोरखपुर : जमीनी विवाद में महिला ने की आत्मदाह की कोशिश, बेटों के सामने खुद को किया आग के हवाले
हैरानी की बात यह है कि महिला के साथ मौजूद उसके बेटों ने उसे बचाने की कोशिश नहीं की है.

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में जमीन के विवाद में एक महिला के आत्मदाह करने की कोशिश की है. महिला के बीच सड़क पर आग लगने की खबर से ही आसपास के लोगों में हड़कंप से मच गया. मौके पर पहुंचे लोगों से आग को बुझाकर महिला को नजदीक अस्पताल में भर्ती कराया. बताया जा रहा है कि महिला अपने पड़ोसी के मकान निर्माण का विरोध कर रही थी. जबकि पड़ोसी खुद की पैतृक जमीन पर मकान निर्माण करवा रहे थे. महिला का आरोप है कि उसकी जमीन पर पड़ोसी मकान निर्माण करवा रहे हैं. 

हालांकि लेखपाल और एसडीएम की रिपोर्ट महिला के खिलाफ है. फिलहाल शुरूआती जांच में महिला द्वारा निर्माण कार्य से नाराज होकर खुद के बेटों की मौजूदगी में आत्मदाह की कोशिश करने का पता चला है. मामला बढ़हलगंज थाना के पदमलपुर गांव के पास का है. जहां गांव के दिवाकर शुक्ला अपनी पैतृक की जमीन पर मकान निर्माण के विरोध को लेकर महिला ने आत्मदाह की कोशिश की है. 

हैरानी की बात यह है कि महिला के साथ मौजूद उसके बेटों ने उसे बचाने की कोशिश नहीं की है. हालांकि इस दौरान महिला के बेटे दूसरे पक्ष के लोगों को ललकार रहे हैं. महिला के आत्मदाह का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. इस मामले में  महिला राजकुमारी के बेटे शैलेष शुक्ला ने कहा है कि तहसील दिवस में एसडीएम ने दूसरे पक्ष में निर्माण कराने का आदेश किया था. जबकि मैंने कोर्ट से स्टे का हवाला दिया था. लेकिन एसटीएम ने कहा है था कि वह अपनी जमीन पर निर्माण करा रहा है. ऐसे में शैलेष का कहना है तंग आकर उनकी मां ने खुद को जलाया है.

देखिए LIVE TV

वहीं इस मामले में एसपी साऊथ विपुल श्रीवास्तव का कहना है कि दरअसल बढ़हलगंज थाना के पदमलपुर गांव के दिनेश शुक्ला अपनी पैतृक जमीन पर मकान का निर्माण करा रहा था. जबकि पड़ोस के शैलेष, अखिलेश, निलेष और उसकी मां जबरन निर्माण कार्य में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं. इस मामले में पूर्व के थाना दिवस में हल्का लेखपाल और एसडीएम ने भी दिवाकर शुक्ला के पक्ष में रिपोर्ट लगाई है.