पुलवामा हमला: एक साल बाद भी सरकार ने पूरे नहीं किए शहीद प्रदीप के परिवार से किए वादे

एक साल पूरा हो चुका है लेकिन शहीद सीआरपीएफ जवान प्रदीप यादव की विधवा को किसी भी प्रकार की कोई सरकारी सहायता नहीं मिली है. जिसके चलते शहीद की पत्नी नीरज देवी ने शहादत दिवस का एक साल पूरा होने पर सरकार व प्रशासन के वादों पर सवाल उठाएं हैं.

पुलवामा हमला: एक साल बाद भी सरकार ने पूरे नहीं किए शहीद प्रदीप के परिवार से किए वादे
शहीद जवान प्रदीप सिंह यादव

कन्नौज: कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में यूपी के कन्नौज जिले के इंदरगढ़ थाना क्षेत्र के अजान सुखसेनपुर निवासी जवान प्रदीप सिंह यादव 14 फरवरी 2019 को शहीद हो गये थे. वह उस बटालियन में शामिल थे, जिसे आंतकियों ने निशाना बनाया था. प्रदीप सिंह यादव श्रीनगर में 115 सीआरपीएफ बटालियन में सिपाही थे. उनके परिवार में अब पत्नी नीरज देवी और दो बेटियां 10 वर्षीय सुप्रिया यादव और ढाई साल की सोना यादव हैं.पूरे राजकीय सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया गया था और सरकार ने शहीद के परिवार की हर तरह की मदद का ऐलान भी किया था. 

पढ़ें ये खबर- पुलवामा हमला: पंकज की शहादत पर परिवार को है गर्व, नक्शेकदम पर चलने को तैयार छोटा भाई 

कश्मीर के पुलवामा में एक साल पहले शहीद हुये कन्नौज के सीआरपीएफ जवान प्रदीप यादव की विधवा पत्नी से किये वादों को अधिकारी व नेता पूरी तरह भूल चुके हैं. फौजी प्रदीप के शहीद होने पर जिले के प्रशासनिक अफसरों व नेताओं ने उनके नाम पर पार्क, गांव की सड़क और एक मूर्ती लगवाने का वादा किया था. इतना ही नहीं शासन ने शहीद की पत्नी को 5 बीघा जमीन देने का ऐलान भी किया था.

ये खबर भी पढ़ें- Pulwama attack: आज भी छलक पड़ते हैं शहीद बबलू सांतरा की मां की आंखों से आंसू

एक साल पूरा हो चुका है लेकिन शहीद सीआरपीएफ जवान प्रदीप यादव की विधवा को किसी भी प्रकार की कोई सरकारी सहायता नहीं मिली है. जिसके चलते शहीद की पत्नी नीरज देवी ने शहादत दिवस का एक साल पूरा होने पर सरकार व प्रशासन के वादों पर सवाल उठाएं हैं. 

ये खबर पढ़ें-पुलवामा हमले: एक साल बाद भी सदमे से नहीं उबर पाया शहीद का परिवार, लेकिन शहादत पर करता है गर्व

फरवरी में ही कन्नौज के बोर्डिंग ग्राउंड में चल रहे समरसता सेवा शिविर में शहीद की विधवा नीरज देवी ने सांसद सुब्रत पाठक के सामने अपना दुखड़ा रोया. उनका कहना है कि एक साल हो गया, लेकिन सरकार की किसी घोषणा पर कोई अमल नही हुआ. नीरज देवी बताया कि, वह अफसरों के दर पर सैकड़ों चक्कर लगा चुकी हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई.

पढ़ें ये खबर- पुलवामा हमला: शहीदों के याद में बनाई गई वाटिका, लगाए गए 42 पौधे

शहीद जवान प्रदीप सिंह यादव की पत्नी ने बताया कि वह पति की शहादत दिवस पर गांव में एक श्रद्धांजलि कार्यक्रम करना चाहती थी, लेकिन इंदरगढ़ थानाध्यक्ष ने कार्यक्रम की इजाजत नहीं दी. जिसके बाद नीरज देवी ने जिलाधिकारी से कार्यकम की इजाजत देने की गुहार लगायी.