गैरसैंण में विधानसभा सत्र न होने पर गरमाई सियासत, पूर्व CM हरीश रावत का धरना

गैरसैंण पहुंचने पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हरीश रावत का पार्टी कार्यकर्ताओं और स्थानीय लोगों ने जोरदार किया स्वागत किया.

गैरसैंण में विधानसभा सत्र न होने पर गरमाई सियासत, पूर्व CM हरीश रावत का धरना
पूर्व सीएम हरीश रावत ने वंदेमातरम गाकर गैरसैंण में अपने धरने की शुरूआत की.

चमोली: गैरसैंण (Gairsain) में विधानसभा का सत्र (Assembly session) न कराने को लेकर प्रदेश की सियासत गरमा गई है. आज सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat) ने गैरसैंण पहुंचकर धरना दिया. हरीश रावत ने वंदेमातरम गाकर अपने धरने की शुरूआत की. इस दौरान उन्‍होंने त्रिवेंद्र सरकार पर भी जमकर निशाना साधा. बता दें कि हरीश रावत, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के गैरसैंण में ठंड है वाले बयान और इस साल गैरसैण में कोई भी सत्र न कराने को लेकर धरना दे रहे हैं.

वहीं, गैरसैंण पहुंचने पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हरीश रावत का पार्टी कार्यकर्ताओं और स्थानीय लोगों ने जोरदार किया स्वागत किया. हरीश रावत के धरना शुरू करने से पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक जलूस भी निकाला और गैरसैंण राजधानी के नारे लगाते हुए रामलीला मैदान पहुंचे. जहां पर हरीश रावत ने गैरसैंण की उपेक्षा को लेकर उपवास शुरू किया. इस दौरान हरीश रावत के साथ कांग्रेस के कई कार्यकर्ता और कई पूर्व विधायक व मंत्री भी मौजूद रहे. 

हरीश रावत के धरने को समर्थन देने पूर्व विधायक सरिता आर्य, ललित फर्सवाण, पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष अनसूया प्रसाद मैखुरी, पूर्व मंत्री राजेन्द्र भंडारी, पूर्व विधायक गणेश गोदियाल, पूर्व विधायक जीत राम टम्टा, मदन बिष्ट, मनोज तिवारी और मनीष खंडूरी पहुंचे.