भारी बर्फबारी से केदारनाथ धाम में फैली सफेद चादर, कम नही हो रही है दुश्वारियां

रुद्रप्रयाग के डीएम मंगेश घिल्डियाल ने पहले ही केदारनाथ में कार्य कर रहे सभी कर्मचारियों को वापस लौटने का आदेश दिया था.

भारी बर्फबारी से केदारनाथ धाम में फैली सफेद चादर, कम नही हो रही है दुश्वारियां
केदारनाथ धाम में एक बार फिर भारी बर्फबारी का अलर्ट है.

देहरादून: केदारनाथ धाम में भारी बर्फबारी के बाद दुश्वारियां कम नही हो रही हैं. 21 और 22 जनवरी को केदारनाथ में हुई भारी बर्फबारी के बाद से ही वहां संचार, बिजली, पेजयल और आवागमन ठप हो गया है. विषम परिस्थितियों को देखते हुए केदारधाम में जीवन बहुत मुश्किल हो गया है. केदारनाथ धाम में बिजली व्यवस्था ठप होने से मुश्किलें और बढती जा रही है. फिलहाल केदारनाथ धाम में केवल वुडस्टोन कम्पनी के 10 कर्मचारी और 4 पुलिस के जवान तैनात है.

डीएम ने केदारनाथ धाम से सभी कर्मचारियों को वापस लाने का दिया था आदेश
रुद्रप्रयाग के डीएम मंगेश घिल्डियाल ने पहले ही केदारनाथ में कार्य कर रहे सभी कर्मचारियों को वापस लौटने का आदेश दिया था. केदारनाथ धाम में पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत कई पुनर्निर्माण कार्य किए जा रहे हैं. लेकिन पिछले महीने 21 और 22 जनवरी को केदारनाथ में भारी बर्फबारी के बाद स्थितियां काफी चुनौतीपूर्ण हो गई थी. डीएम के आदेश के बाद लगभग 50 कर्मचारियों को वापस सोनप्रयाग बुला लिया गया है लेकिन वुडस्टोन कम्पनी के 10 कर्मचारी और पुलिस के 4 जवान अभी भी धाम में तैनात है. फिलहाल सभी कर्मचारी केदारनाथ में सुरक्षित है और करीब ढाई महीने का राशन उनके पास है.

केदारनाथ पैदल मार्ग एवलांच आने के बाद कई जगह क्षतिग्रस्त
केदारनाथ धाम में भारी बर्फबारी के बाद कई स्थानों पर एवलांच आ रहे है. रामबाड़ा और केदारनाथ के बीच करीब 4 स्थानों पर एवलांच आने के बाद पैदल मार्ग क्षतिग्रस्त हो चुका है. लिंचोली और भैरव गदेरे में एवलांच आने के बाद पैदल मार्ग पूरी तरत क्षतिग्रस्त हो चुका है और लिंचोली में एवलांच की चपेट में आने से जीएमवीएन के दो गेस्ट हाऊस भी ध्वस्त हो चुके हैं. गौरीकुंड और केदारनाथ के बीच 40 विद्युत पोल टूट चुके है और अगले 10 से 15 दिनों के भीतर बिजली आपूर्ति सुचारु करना बेहद मुश्किल है. विद्युत आपूर्ति बहाल नही हुई तो संचार व्यवस्था को भी सुचारु नही किया जा सकेगा. धाम में इस समय धूप खिली हुई है लेकिन रात के समय तापमान माइनस 15 डिग्री तक पहुंच जा रहा है.

6 और 7 फरवरी को मौसम विभाग ने फिर जारी किया अलर्ट
केदारनाथ धाम में एक बार फिर भारी बर्फबारी का अलर्ट है. मौसम विभाग ने 6 और 7 फरवरी को प्रदेश के पर्तवीय जिलों में बारिश और बर्फबारी का अलर्ट जारी किया है. वर्तमान में केदारनाथ धाम में करीब 8 फीट से ज्यादा बर्फ की मोटी चादर बिछी हुई है. मंदिर के मुख्य द्वार में स्थित नंदी की प्रतिमा भी नही दिखाई दे रही है. बर्फबारी ज्यादा होने से पुनर्निर्माण का कार्य पूरी तरह से ठप है और जो 10 कर्मचारी केदारनाथ धाम में वो छतों से बर्फ को हटाने में जुटे है. ऐसे में 6 और 7 फरवरी को भारी बर्फबारी दोबारा हुई और मुश्किलें खड़ी हो सकती है.