दिल्ली में दंगे के बाद उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट, संवेदनशील जिलों में पुलिस की टीमें गश्त पर

डीजीपी अवस्थी ने सीनियर पुलिस अफसरों को गश्त करने के साथ ही संदिग्ध वाहनों और लोगों की चेकिंग करने का आदेश जारी किया है. किसी स्थान पर लोगों का समूह इकट्ठा न होने पाए इसके लिए पुलिस नजर बनाए हुए है. 

दिल्ली में दंगे के बाद उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट, संवेदनशील जिलों में पुलिस की टीमें गश्त पर
उत्तर प्रदेश के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी की फाइल फोटो.

लखनऊ: देश की राजधानी दिल्ली में नागरिक संशोधन कानून (CAA) को लेकर भड़के दंगों के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस अलर्ट मोड में है. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में हाईअलर्ट जारी कर दिया गया है. संभल, मुजफ्फरनगर, मेरठ, गौतमबुद्ध नगर, शामली, अमरोहा, सहारनपुर में उत्तर प्रदेश पुलिस के अधिकारी गश्त कर रहे हैं. लखनऊ में भी पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है. उत्तर प्रदेश के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने नई दिल्ली की सीमा से जुड़े शहरों में विशेष सतर्कता के निर्देश दिए हैं. 

यूपी पुलिस अलर्ट पर है
डीजीपी अवस्थी ने सीनियर पुलिस अफसरों को गश्त करने के साथ ही संदिग्ध वाहनों और लोगों की चेकिंग करने का आदेश जारी किया है. किसी स्थान पर लोगों का समूह इकट्ठा न होने पाए इसके लिए पुलिस नजर बनाए हुए है. डीजीपी ने अफवाह फैलाने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. साथ ही अफवाहों का सोशल मीडिया के जरिए तुरंत खंडन करने की बात भी कही है. एलआईयू और खुफिया एजेंसियों को सक्रिय रहने के निर्देश दिए गए हैं.

अलीगढ़ में इंटरनेट बंद
डीजीपी एचसी अवस्थी के मुताबिक, संवेदनशील जिलों को पर्याप्त पुलिस, पीएसी और केंद्रीय बल मुहैया कराया गया है. अलीगढ़ में भी रविवार को सीएए के प्रदर्शन के दौरान तोड़फोड़, आगजनी की घटनाएं हुई थीं. इस मामले पर पुलिस ने 350 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. अलीगढ़ में इंटरनेट सेवाएं अगले 24 घंटे तक के लिए बंद कर दी गई हैं. 

उत्तर-पूर्व दिल्ली में दंगे
आपको बता दें कि उत्तर-पूर्व दिल्ली के मौजपुर, जाफराबाद, गोकुलपुरा, चांदबाग सहित कई इलाकों में सोमवार को सीएए समर्थक और विरोधियों के बीच हिंसक झड़पें हुईं. मंगलवार को भी इन क्षेत्रों में पत्थरबाजी और आगजनी की घटनाएं हुईं. इस घटना में एक पुलिस कॉन्स्टेबल समेत अब तक कुल 8 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, 105 के करीब लोग जख्मी हुए हैं. दिल्ली पुलिस ने इस हिंसा को एक सुनियोजित साजिश का हिस्सा बताया है.