जिंदगी, कैसी है पहेली! गर्लफ्रेंड के कत्ल में गया जेल, IIT पास कर जेल से ही करने लगा 8 लाख की नौकरी

शिमला जेल में बंद गौरव अपनी गर्लफ्रेंड की हत्या के जुर्म में उम्रकैद की सज़ा काट रहा है. IIT के छात्र रहे गौरव को उसकी काबिलियत एक निजी कंपनी ने 8 लाख का पैकेज ऑफर किया. अब वो जेल से ही ऑनलाइन क्लासेज लेता है.  

जिंदगी, कैसी है पहेली! गर्लफ्रेंड के कत्ल में गया जेल, IIT पास कर जेल से ही करने लगा 8 लाख की नौकरी
जेल से ही ऑनलाइन क्लास लेता है गौरव

गोंडा: उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले का रहने वाला एक शख्स शिमला जेल में सजा काटते हुए भी दुनिया के सामने एक मिसाल पेश कर रहा है. उम्रकैद की सजा काट रहा गौरव 10वीं-12वीं के विद्यार्थियों की ऑनलाइन क्लास ले रहा है. कोरोना काल में जब बड़े-बड़ों के रोजगार छूट गए और उनके सामने रोजगार का संकट पैदा हो गया, ऐसे में ऑनलाइन क्लास लेने वाली एक नामी कंपनी ने गौरव की काबिलियत देखते हुए 8 लाख रुपये के सालाना पैकेज पर बतौर साइंस टीचर नौकरी ऑफर की है.

गौरव IIT रुड़की का छात्र रहा है, और सॉफ्टवेयर तकनीक में उसे महारत हासिल है.  अब हर रोज वो जेल से ही सुबह काम पर निकल जाता है और शाम को वापस आता है. गौरव पहले भी जेल विभाग की भर्ती परीक्षा के लिए भी सॉफ्टवेयर तैयार कर चुका है. विभाग तकनीक से जुड़े कई मामलों में भी गौरव की सहायता लेता है. 

यह भी पढ़ें - बरेली में लव या 'जेहाद'! माथे पर टीका, हाथ में कलावा, क्या 'बिलाल' ने किया था प्यार का छलावा ?

प्रेमिका की हत्या करने के जुर्म में हुई थी सज़ा
गौरव पर साल 2010 में IIT दिल्ली में पढ़ रही अपनी गर्लफ्रेंड की हत्या का आरोप लगा था. दरअसल गौरव ने भी अपनी प्रेमिका के साथ आत्महत्या की कोशिश की थी. उसकी प्रेमिका तो नहीं बच सकी, लेकिन उसकी जान बच गई. गौरव पर कत्ल का मुकदमा चला और उसकी जिंदगी ही बदल गई. फिलहाल वो शिमला की नाहन सेंट्रल जेल में उम्रकैद की सज़ा काट रहा है. लेकिन जेल में रहते हुए भी वो काफी हद तक आजाद है. सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक वो ऑनलाइन क्लासेज लेता है. कैद में रहते हुए भी गौरव अपनी प्रतिभा के दम पर लोगों के लिए नज़ीर बना हुआ है. 

WATCH LIVE TV