close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'असहिष्णुता' के विरोध में इतिहासकार शेखर पाठक ने लौटाया पद्मश्री

देश में बढ़ती असहिष्णुता का आरोप लगाकर पुरस्कार लौटाने वालों की सूची में अब उत्तराखंड के रहने वाले नामी इतिहासकार शेखर पाठक का नाम भी जुड़ गया है। पाठक ने विरोध स्वरूप अपना पद्मश्री पुरस्कार लौटा दिया।

देहरादून : देश में बढ़ती असहिष्णुता का आरोप लगाकर पुरस्कार लौटाने वालों की सूची में अब उत्तराखंड के रहने वाले नामी इतिहासकार शेखर पाठक का नाम भी जुड़ गया है। पाठक ने विरोध स्वरूप अपना पद्मश्री पुरस्कार लौटा दिया।

पर्यटन नगरी नैनीताल में चल रहे चौथे नैनीताल फिल्म महोत्सव में अपना पद्मश्री पुरस्कार लौटाने की घोषणा करते हुए पाठक ने कहा कि उन्होंने यह फैसला देश में बढ़ रहे ‘असहिष्णुता’ के वातावरण और हिमालयी क्षेत्र की उपेक्षा के विरोध में लिया है।

उन्होंने कहा कि हिमालय का पुत्र होने के नाते पुरस्कार लौटाकर यहां के संसाधनों की लूट का विरोध दर्ज कराने का उनका यह एक तरीका है। जाने-माने इतिहासकार, लेखक और शिक्षाविद पाठक को वर्ष 2007 में पदमश्री दिया गया था।