close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गंगा दशहरे का पावन पर्व आज, श्रद्धालुओं ने लगाई पुण्य की डुबकी

मलमास में गंगा दशहरा का आना बहुत शुभ होता है. जिस साल मलमास होता है, उस वर्ष मलमास में ही गंगा दशहरा मनाया जाता है.

गंगा दशहरे का पावन पर्व आज, श्रद्धालुओं ने लगाई पुण्य की डुबकी
वाराणसी में गंगा में डुबकी लगाते श्रद्धालु. (फोटो एएनआई)

नई दिल्ली: गंगा दशहरा पर पुण्य की डुबकी लगाने के लिए श्रद्धालुओं का रेला गंगा तटों पर उमड़ा. मलमास में गंगा दशहरा के इस पावन संयोग पर श्रद्धालु गंगा घाटों पर दिखाई दे रहे हैं. भागीरथ के कठिन तप के बाद मां गंगा का आज के ही दिन धरती पर अवतरण हुआ था. आज के दिन की मान्‍यता है कि आज गंगा में स्‍नान करने के बाद दान-दक्षिण करने से मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और पापों का नाश होता है. आपको बता दें कि हर साल ज्‍येष्‍ठ माह की शुक्‍ल पक्ष की दशमी तिथि को गंगा दशहरा मनाया जाता है. मलमास में गंगा दशहरा का आना बहुत शुभ होता है.

आज शुभ क्यों हैं ये संयोग
मलमास में गंगा दशहरा का आना बहुत शुभ होता है. जिस साल मलमास होता है, उस वर्ष मलमास में ही गंगा दशहरा मनाया जाता है. उस साल शुद्धमास में गंगा दशहरा नहीं मनाया जाता. इस दिन पवित्र नदी में स्नान और पूजन करने की परंपरा है. ज्योतिषाचार्य प्रभात उपाध्याय के मुताबिक,  गुरुवार (24) मई को पड़ने वाली गंगा दशहरा में गर करण, वृषस्थ सूर्य, कन्या का चन्द्र होने से अद्भुत संयोग प्राप्त बन रहा है. जो महाफलदायक है. इस बार योग विशेष का बाहुल्य होने से इस दिन स्नान, दान, जप, तप, व्रत, और उपवास आदि करने का बहुत ही महत्व है.

 

काशी-हरिद्वार में श्रद्धालु का जनसैलाब
गंगा दशहरा पर बन रहे अद्भुत संयोग के बीच पुण्य की डुबकी लगाने के साथ ही दान करके पुण्य कमाने के लिए श्रद्धालु बुधवार (23 मई) की रात से ही काशी और हरिद्वार पहुंचें और आस्था की डुबकी लगाई. इसी क्रम में गंगोत्री सेवा समिति की तरफ से गंगा दशहरा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है. दशाश्वमेध घाट पर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. 

बृजघाट पर पहुंचे लाखों श्रद्धालु 
हापुड़ के बृजघाट में ज्येष्ठ दशहरा महीने में गंगा स्नान करने के लिए लाखों श्रद्धालु पहुंचे. सुबह तड़के 4 बजे से गंगा स्नान शुरू हो गया. बृजघाट पर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान समेत पूरे देश से श्रद्धालु गंगा स्नान करने पहुंचे. स्थानीय प्रशासन ने भी गंगा दशहरा मेले को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं.