close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नोएडाः बाइक टैक्सी कंपनी चलाने के नाम पर लोगों को ठगने वाले पति-पत्नी फरार

 गो-वे नाम से कंपनी खोलकर पति-पत्नी ने कई लोगों को कथित तौर पर ठगा और पैसे वापस मांगे जाने पर कंपनी में ताला लगा कर गायब हो गए.

नोएडाः बाइक टैक्सी कंपनी चलाने के नाम पर लोगों को ठगने वाले पति-पत्नी फरार
बाइक टैक्सी चलाने के नाम पर लोगों को ठगा जा रहा था. (प्रतीकात्मक फोटो)

नोएडाः बाइक टैक्सी चलाने के नाम पर लोगों को ठगने का एक और मामला सामने आया है. थाना कासना में गो-वे नाम से कंपनी खोलकर पति-पत्नी ने कई लोगों को कथित तौर पर ठगा और पैसे वापस मांगे जाने पर कंपनी में ताला लगा कर गायब हो गए.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने बताया कि बुलंदशहर के रहने वाले दीपक शर्मा ने रविवार की रात को शिकायत दर्ज कराई है कि गो-वे (मैसर्स केडीएम इंटरप्राइजेज) नाम की कंपनी के मालिक अनिल सैन तथा उसकी पत्नी मीनू ने सोशल मीडिया के माध्यम से उनसे संपर्क कर कहा कि वे लोग बाइक टैक्सी चलाते हैं. 

शिकायत के अनुसार, दीपक शर्मा से एक बाइक के लिए 60 हजार रुपए नगद निवेश कराए गए तथा एक साल में धनराशि दोगुना करने का झांसा दिया गया. 

एसएसपी ने बताया कि इसी तरह कई लोगों से निवेश कराया गया और अब गो-वे के निदेशक कंपनी में ताला लगाकर गायब हो गए हैं. 

उन्होंने बताया कि बाइक बोट कंपनी द्वारा 10 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की ठगी करने का मामला सामने आने के बाद गो- वे कंपनी के निवेशकों ने भी अनिल सैन और उनकी पत्नी पर पैसे वापस करने का दबाव बनाया. दोनों ने सोमवार को निवेशकों का पैसा लौटाने का वादा किया था. लेकिन रविवार की रात को ही वे अपने दफ्तर में ताला लगाकर गायब हो गए. उनका मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ है. आज कंपनी के दफ्तर पर ताला लटका देख निवेशक भड़क गए और थाना कासना जा कर उन्होंने शिकायत दर्ज कराई. 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है. 

गौरतलब है कि बाइक बोट नामक कंपनी ने भी बाइक टैक्सी चलाने के नाम पर कई लोगों से 10 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की ठगी की है. इसके मालिक संजय भाटी और विजयपाल कसाना को विशेष जांच दल ने गिरफ्तार किया है. इन लोगों को 5 दिन की पुलिस हिरासत में लेकर एसआईटी पूछताछ कर रही है.