किशोरी की हत्या की पुलिस ने सुलझाई गुत्थी, चचेरे भाई समेत 4 गिरफ्तार

मृत किशोरी के चचेरे भाई ने अपने तीन दोस्तों के साथ खेत से किशोरी का अपहरण कर उसे तीन दिनों तक बंधक बनाकर कथित रूप से उसके साथ दुष्कर्म किया, और उसके बाद उसकी हत्या कर शव कुएं में फेंक दिया था. 

 किशोरी की हत्या की पुलिस ने सुलझाई गुत्थी, चचेरे भाई समेत 4 गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

बांदा: उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के बिसंड़ा थाना क्षेत्र के अमवां गांव के मजरा नाहर पुरवा में 12 जनवरी को एक कुएं से बरामद किशोरी के शव की गुत्थी पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है. पुलिस ने कहा है कि किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म, फिर उसकी हत्या उसके चचेरे भाई ने करवाई थी. पुलिस अधीक्षक गणेश प्रसाद साहा ने मंगलवार को कहा कि मृत किशोरी के चचेरे भाई ने अपने तीन दोस्तों के साथ खेत से किशोरी का अपहरण कर उसे तीन दिनों तक बंधक बनाकर कथित रूप से उसके साथ दुष्कर्म किया, और उसके बाद उसकी हत्या कर शव कुएं में फेंक दिया था. उसे गिरफ्तार कर लिया गया है.

साहा ने कहा कि 16 साल की लड़की पांच जनवरी की शाम फसल की रखवाली करते समय खेत से लापता हो गई थी. इस संबंध में परिजनों ने अज्ञात के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था. उसका शव 12 जनवरी को गांव बस्ती से दूर एक कुएं से बरामद हुआ. शव का पोस्टमॉर्टम कराया गया, तो सामूहिक दुष्कर्म के बाद गला घोंट कर हत्या करने की पुष्टि हुई.

एसपी साहा ने बताया, एक सप्ताह की खुफिया जांच में पाया गया कि लड़की का चचेरा भाई कृष्ण कुमार अपने तीन दोस्तों कंचन राजपूत, नीरज राजपूत और राकेश यादव के साथ मिलकर उसका अपहरण करवा लिया था और एक निजी नलकूप में तीन दिनों तक बंधक बनाकर उसके साथ वे दुष्कर्म करते रहे. आठ जनवरी को राज खुलने के भय से चारों आरोपियों ने फांसी का फंदा लगाकर लड़की की हत्या कर दी और शव कुएं फेंक दिया."

उन्होंने बताया, चारों आरोपियों ने पुलिस हिरासत में कथित रूप से लड़की के साथ दुष्कर्म करने और हत्या करने का अपराध स्वीकार किया है. इसके बाद सोमवार को धारा-363, 302, 201, 343, 376 (डी) और पॉक्सो अधिनियम 3/4 के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.