बस विवाद: यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय लल्लू को नहीं मिली जमानत, 1 जून को अगली सुनवाई

यूपी कांग्रेस का आरोप है कि उनके प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को फर्जी मुकदमे में जेल भेजने के बाद उनकी जमानत न होने पाए, इसलिए योगी सरकार के ईशारे पर बाधा डाला जा रहा है. कोर्ट में पुलिस ने केस डायरी तक नहीं प्रस्तुत की है.

बस विवाद: यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय लल्लू को नहीं मिली जमानत, 1 जून को अगली सुनवाई
उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की जमानत अर्जी पर MP-MLA कोर्ट (जनप्रतिनिधियों के न्यायिक मामलों के लिए विशेष अदालत) ने 1 जून तक के लिए टाल दी. अजय कुमार लल्लू की जमानत अर्जी पर शनिवार को हुई सुनवाई के दौरान केस डायरी नहीं होने के कारण एमपी-एमएलए कोर्ट ने 1 जून की अगली तारीख दे दी. 

अजय कुमार लल्लू 20 मई से जेल में हैं बंद
उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से मामले की पैरवी कर रहे अधिवक्ता मनोज त्रिपाठी ने कोर्ट के सामने तर्क दिया कि केस की विवेचना टीमें कर रहीं हैं. केस के विवेचक भी जांच के लिए बाहर गए हैं. ब्यौरा पेश करने के लिए और समय की आवश्कता है. कोर्ट ने उनकी दलील को स्वीकार करते हुए 1 जून के लिए सुनवाई टाल दी.

सीएम योगी के निर्देश पर मंत्री कर रहे हैं अस्पतालों का दौरा, स्वास्थ्य मंत्री पहुंचे सिद्धार्थनगर जिला अस्पताल

बस विवाद में जेल में बंद हैं अजय कुमार लल्लू
आपको बता दें कि बीते दिनों प्रवासी मजदूरों को लेकर उत्तर प्रदेश में हुए बस विवाद में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू जेल में बंद हैं. उन्हें 20 मई को आगरा में अवैध रूप से धरना प्रदर्शन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. 

योगी सरकार ने पार की उत्पीड़न की हदें: कांग्रेस
हालांकि, लल्लू को उसी दिन जमानत मिल गई थी. लेकिन लखनऊ पुलिस ने उन्हें दूसरे केस में गिरफ्तार कर लिया. उनके ऊपर बसों के कागजात में फर्जीवाड़े का आरोप लगा है. यूपी कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर उत्पीड़न की हदें पार करने का आरोप लगाया है.

कानपुर : हॉटस्पॉट इलाके में भीड़ लगाने वाले MLA पर मुकदमा दर्ज, CO को भारी पड़ी विधायक से यारी

'योगी सरकार के इशारे पर पुलिस डाल रही है बाधा'
यूपी कांग्रेस का आरोप है कि उनके प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को फर्जी मुकदमे में जेल भेजने के बाद उनकी जमानत न होने पाए, इसलिए योगी सरकार के ईशारे पर बाधा डाला जा रहा है. कोर्ट में पुलिस ने केस डायरी तक नहीं प्रस्तुत की है. इस कारण कोर्ट को तारीख पर तारीख देनी पड़ रही है.

WATCH LIVE TV