लखनऊ: LockDown में काम पर जा रहा था सफाईकर्मी, इसलिए पुलिस ने पीटा, काटा 1000 का चालान

यह सफाईकर्मी अपने काम पर जा रहा था. पुलिस ने उसे रोका, लॉकडाउन के उल्लंघन का आरोप लगाकर उसे मारा और उसकी गाड़ी का बेवजह चालान कर दिया, जबकि सफाइकर्मी के पास हेलमेट और सारे कागजात मौके पर उपलब्ध थे. 

लखनऊ: LockDown में काम पर जा रहा था सफाईकर्मी, इसलिए पुलिस ने पीटा, काटा 1000 का चालान
लखनऊ नगर निगम का सफाई कर्मचारी सुनील.

लखनऊ: पूरे देश में लॉकडाउन के दौरान जगह-जगह से ऐसी तमाम तस्वीरें और वीडियो सामने आ रही हैं जिनमें पुलिस मुश्किल की घड़ी में जरूरतमंदों के साथ खड़ी दिख रही है. कहीं कोई पुलिसकर्मी भूखों को खाना खिला रहा है, तो कहीं कोई पुलिसवाला प्रसव पीड़ा झेल रही महिला की मदद कर उसे अस्पताल पहुंचाता है. लेकिन इन सबके बीच कुछ एक पुलिसकर्मियों की हरकतें ऐसी हैं जिससे पूरे डिपार्टमेंट की साख पर बट्टा लग जाता है. 

ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सामने आया है जहां एक सफाई कर्मचारी ने पुलिसवालों पर उसे बेवजह पीटने का आरोप लगाया है. यह सफाईकर्मी अपने काम पर जा रहा था. पुलिस ने उसे रोका, लॉकडाउन के उल्लंघन का आरोप लगाकर उसे मारा और उसकी गाड़ी का बेवजह चालान कर दिया, जबकि सफाइकर्मी के पास हेलमेट और सारे कागजात मौके पर उपलब्ध थे. 

उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में COVID-19 के 14 नए केस, राज्य में Corona मरीजों की संख्या 65 पहुंची

लखनऊ नगर निगम के सफाई कर्मचारी सुनील का आरोप है कि बीते शनिवार जब वह अपने काम पर जा रहा था तो, थाना मड़ियांव क्षेत्र में सीतापुर रोड पर तैनात पुलिसकर्मियों ने उसे रोक लिया. जब सफाईकर्मी ने नगर निगम का अपना आई कार्ड दिखाया तो पुलिसवालों ने उसे फर्जी बता दिया. पुलिस वालों ने सुनील से कहा कि उसके कार्ड पर किसी अधिकारी का सिग्नेचर नहीं है, फिर उसे पीटा.

काम पर जा रहे सफाईकर्मी के साथ लखनऊ पुलिस की बदसलूकी
जब पुलिस का बड़ा अफसर मौके पर पहुंचा तो सुनील ने उससे भी अपने सफाई कर्मचारी होने की बात कही. उस बड़े पुलिस अफसर ने भी सुनील की नहीं सुनी, उसे कुछ चाटे मारे और उसकी गाड़ी जब्त करने की धमकी दी. सुनील में अपने सुपरवाइजर विक्रम सिंह को फोन कर मौके पर बुलाया. विक्रम सिंह उर्फ विक्की ने पुलिसवालों से सुनील के सफाईकर्मी होने के बारे में बताया. लेकिन पुलिस ने नहीं सुनी और उनके साथ भी बदसलूकी से पेश आए. 

7000 कमाने वाले सुनील का पुलिस ने कर दिया 1000 का चालान
पुलिसवालों ने सुनील की बाइक का 1000 रुपये का चालान कर दिया. चालान करने के पीछे कोई वहज नहीं बताई. सुनील के मुताबिक उसने कोई ट्रैफिक रूल भी नहीं तोड़ा था, उसके पास बाइक के सारे कागज मौके पर मौजूद थे और उसने हेलमेट भी पहन रखा था. फिर भी पुलिसवालों ने उसकी गाड़ी का चालान कर दिया. सुनील का कहना है कि वह 7000 रुपये महीने की तनख्वाह पाता है. अब 1000 का चालान कहां से भरेगा.

महज एक अफवाह और बदल गया आनंद विहार का मंजर, हजारों लोग हो गए इकट्ठा

पीएम मोदी और सीएम योगी करते हैं सफाई कर्मचारियों की प्रशंसा
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सफाइकर्मियों को देश का सच्चा सेवक मानते हैं. वह प्रयागराज कुंभ में सफाईकर्मियों के पांव धो चुके हैं. कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में मेडिकल और पैरा मेडिकल स्टाफ के साथ ही देशभर के सफाई कर्मचारी भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं. सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी देश को साफ सुथरा और निरोग रखने में सफाई कर्मचारियों की भूमिका को महत्वपूर्ण मानते हैं. लेकिन पुलिस उनके साथ बदसलूकी करती है.

WATCH LIVE TV