योगी के मंत्री ने कहा, 'जिन्हें शरिया अदालत से इश्क है तो इस्लामिक मुल्क का रुख करें'

 'हमारे देश में एक संविधान है और एक देश में दो कानून नहीं होते. देश संविधान से चला है'. 

 योगी के मंत्री ने कहा, 'जिन्हें शरिया अदालत से इश्क है तो इस्लामिक मुल्क का रुख करें'
उन्नाव में किसान सम्मेलन के दौरान उन्होंने ये बातें कहीं. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली/उन्नाव: ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के देश के सभी जिलों में इस्लामिक शरिया अदालत खोलने के एलान के एक नई बहस शुरू हो गई है. इसी बहस में अब योगी कैबिनेट में इकलौते मुस्लिम मंत्री मोहसिन रजा भी कूद गए हैं. मोहसिन रजा ने शरिया अदालत को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा, 'हमारे देश में एक संविधान है और एक देश में दो कानून नहीं होते. देश संविधान से चला है'. देश में शरिया कानून नहीं चलता है'. उन्होंने तंज कसते हुए कहा, 'हमारा दिल बहुत बड़ा है. अगर किसी को शरिया अदालत से इश्क रखता है. तो वो इस्लामिक मुल्क जा सकता है, हम उसे बड़े प्रेम से विदा कर देंगे'.

ये भी पढ़ें: हर जिले में शरिया कोर्ट खोलने की तैयारी में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

योगी कैबिनेट के सदस्य मोहसिन रजा ने ये बात उन्नाव में किसान सम्मेलन के दौरान कहीं. इस दौरान उन्होंने बीजेपी शासन में किए गए कार्यों की भी तारीफ की. उन्होंने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार की तरफ से किसान हितों के लिए बहुत सी जनकल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिससे किसानों को लाभ मिल रहा है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री मोहसिन रजा ने अपने संबोधन में कहा कि सरकार ने अपने घोषणा पत्र में जो भी जनता और किसानों से वादे किए थे. वो आज सभी पूरे हो रहे हैं.

ये भी पढ़ें: हर जिले में शरिया अदालतों के मुद्दे पर बीजेपी बोली- 'यह इस्‍ला‍मिक रिपब्लिक ऑफ इंडिया नहीं'

इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकारों ने जनता व किसानों को सिर्फ छलने का काम किया है. पूर्ववर्ती सरकारों में किसानों को उनकी फसल का कभी भी उचित रेट नहीं मिल पाया है, जिसके वजह से किसानों को सिर्फ नुकसान हुआ है. 

आपको बता दें इससे पहले बिहार, ओड़िशा एवं झारखंड के मुसलमानों की महत्वपूर्ण संस्था इमारत शरिया के महासचिव मौलाना अनिसुर रहमान कासमी ने देश के हर जिले में शरिया अदालत को बकवास बताया था. उन्होंने कहा था कि कुछ लोग अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने के लिए ऐसी बात कर रहे हैं.