close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

योगी सरकार का 2 IPS अफसरों पर कार्रवाई, ट्रांसफर-पोस्टिंग के नाम पर खेल करने का है आरोप

कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करते हुए लापरवाही बरतने और अनियमितता पाये जाने वाले अधिकारियों के खिलाफ मुख्यमंत्री का सख्त रुख देखने को मिला है. मुख्यमंत्री ने गृह एवं पुलिस विभाग के बड़े अधिकारियों को निर्देशित किया है.

योगी सरकार का 2 IPS अफसरों पर कार्रवाई, ट्रांसफर-पोस्टिंग के नाम पर खेल करने का है आरोप
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भ्रष्टाचार के मामलों में जीरो टोलरेंस की नीति पर काम कर रहे हैं.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार एक्शन में है. विपक्ष की ओर से आरोप लगते हैं कि इस सरकार में ट्रांसफर-पोस्टिंग के नाम पर खेल चल रहा है, लेकिन इससे उलट योगी सरकार ने ऐसे ही एक मामले की शिकायत मिलने पर बड़े अफसर पर कार्रवाई की है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशन में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बड़ी कार्रवाई की है.

कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करते हुए लापरवाही बरतने और अनियमितता पाये जाने वाले अधिकारियों के खिलाफ मुख्यमंत्री का सख्त रुख देखने को मिला है. मुख्यमंत्री ने गृह एवं पुलिस विभाग के बड़े अधिकारियों को निर्देशित किया है. एसएसपी बुलंदशहर एन कोलांची को थानेदारों की तैनाती में अनियमितता के आरोप में निलंबित कर दिया गया है. उनके स्थान पर चंदौली के एसपी संतोष कुमार सिंह को बुलंदशहर का नया एसएसपी बनाया गया है, जबकि चंदौली में हेमंत कुटियाल को तैनाती दी गई है. इससे पहले कुटियाल एसडीआरएफ में सेनानायक के पद पर तैनात थे.

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कानून व्यवस्था की समीक्षा के दौरान बुलंदशहर में थानेदारों की तैनाती में अनियमितता की बात सामने आई थी. मुख्यमंत्री ने डीजीपी मुख्यालय से गोपनीय जांच कराई. जांच के दौरान आरोप सही पाए गए, जिसके बाद डीजीपी ओम प्रकाश सिंह की रिपोर्ट पर एसएसपी बुलंदशहर को निलंबित कर दिया गया.

लाइव टीवी देखें-:

डीजीपी ओपी सिंह की रिपोर्ट के आधार पर एसएसपी बुलंदशहर को सस्पेंड किया गया है. थानाध्यक्षों एवं प्रभारी निरीक्षकों के पद पर तैनाती में पाई गई अनियमितता को लेकर यह कार्रवाई हुई है.

साथ ही हिदायत दी गई है कि थानाध्यक्षों की तैनाती की प्रक्रिया का कड़ाई से अनुपालन सुनश्चित किया जाए व समीक्षा सुनिश्चित की जाए. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने पूरे मामले की जानकारी दी.