जैश का टॉप कमांडर यूपी में रहकर चला गया, खुफ‍िया एजेंसियों को भनक तक नहीं लगी

माना जा रहा है कि जैश यूपी में किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की साजिश में लगा है.

जैश का टॉप कमांडर यूपी में रहकर चला गया, खुफ‍िया एजेंसियों को भनक तक नहीं लगी
प्रतीकात्‍मक फोटो

लखनऊ: सहारनपुर मामले में यूपी एटीएस जिस ख़ास मेहमान को ढूंढ रही थी, वो कोई और नहीं जैश ए मोहम्मद का टॉप कमांडर निकला. वह कमांडर शाहनवाज के संपर्क में था और माना जा रहा है कि जैश यूपी में किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की साजिश में लगा है. इसके लिए स्थानीय युवाओं का ब्रेन वाश करके इस्तेमाल कर सकता है. पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का टॉप कमांडर उत्तर प्रदेश के सहारनपुर आया था.

यह खुलासा सहारनपुर के देवबंद से गिरफ्तार जैश के संदिग्ध आतंकी शाहनवाज तेली और आकिब अहमद मलिक की गिरफ्तारी के बाद हुआ है. दोनों ने एटीएस को पूछताछ में बताया है कि टॉप कमांडर देवबंद में रुकने के अलावा यूपी के कुछ प्रमुख शहरों में भी गया. वहां कुछ लोगों से मुलाकात भी की. यूपी एटीएस को आशंका है कि राज्य में किसी बड़े आतंकी हमले की तैयारी को लेकर यह सारी कवायद की गई.

एटीएस सूत्रों के मुताबिक जैश-ए-मोहम्मद के इस बड़े हैंडलर की खातिरदारी के लिए हॉस्टल में शाहनवाज और आकिब ने गोश्त पकाया था. एटीएस को पूछताछ में उन लोगों के नाम मिले हैं, जिनसे जैश के हैंडलर ने मुलाकात की थी. उसका यहां पर मूवमेंट होता रहा, लेकिन खुफियां एजेंसियों को इसकी भनक तक नहीं लगी.

अब एटीएस उन सभी से अलग-अलग पूछताछ कर रही है. जिन जगहों पर वह गया था वहां पर पड़ताल करके जानकारी की जा रही है कि हैंडलर ने उन्हें क्या निर्देश दिए. मुलाकात का मकसद क्या था और उनसे मुलाकात के बाद वह कहां गया. उसने संपर्क में रहने के लिए कौन सा फोन नंबर या जरिया दिया है.

जम्मू-कश्मीर की पुलिस ने भी टॉप कमांडर के यहां आने की पुष्टि की है. ऐसे में करीब 25 साल बाद जैश-ए-मोहम्मद के टॉप हैंडलर के पश्चिम यूपी में फिर से एक्टिव होने के बाद जांच एजेंसी सतर्क हो गयी है.