जालौन के जवान का अंतिम संस्कार, LAC पर तैनाती के दौरान ऑक्सीजन की कमी से हुआ था निधन

भारत-चीन सीमा (LAC) पर तैनात जालौन के जवान धर्मपाल का पार्थिव शरीर उनके गांव उरई  पहुंचा.

जालौन के जवान का अंतिम संस्कार, LAC पर तैनाती के दौरान ऑक्सीजन की कमी से हुआ था निधन
फाइल फोटो

जालौन : भारत-चीन सीमा (LAC) पर तैनात जालौन के जवान धर्मपाल का पार्थिव शरीर उनके गांव उरई  पहुंचा. जहां राजकीय सम्मान के साथ उनको अंतिम विदाई दी गई.  अंतिम विदाई के लिए उरई विधायक गौरीशंकर के साथ उपजिलाधिकारी सतेंद्र सिंह के साथ पूरा गांव उमड़ा था.

आज धर्मपाल का पार्थिव शरीर जैसे ही उनके गांव पहुंचा पूरा गांव गमगीन हो गया और उन्हें अंतिम विदाई देने के लिये उमड़ पड़ा. जहां भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे से पूरा इलाका गूंज गया. उनके निधन से परिजनों के साथ ग्रामीणों का रो-रो कर बुरा हाल है. 

धर्मपाल सिंह भारतीय थल सेना के आर्टिलरी में हवलदार थे. धर्मपाल सिंह की तैनाती भारत-चीन बॉर्डर LAC पर लद्दाख की पहाड़ियों पर थी, पहाड़ों पर ऑक्सीजन की कमी से उनकी हालत बिगड़ गई थी, हालत गंभीर होने पर उन्हें चंडीगढ़ के अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान उनका 5 अगस्त को निधन हो गया.

ये भी पढ़ें : पश्चिमी यूपी के दौरे पर सीएम योगी, सहारनपुर के स्वास्थ्य विभाग में इस वजह से मचा हड़कंप

आपको बता दें कि जालौन के उरई तहसील के जैसारी कला गांव के रहने वाले शहीद जवान धर्मपाल का चयन 2001 में भारतीय सेना में हुआ था. शहीद जवान धर्मपाल सिंह की पहली तैनाती साल  2001 में जोधपुर में हुई थी. शहीद जवान धर्मपाल तीन भाई थे जिसमें वह दूसरे नंबर थे, बड़े भाई महिपाल सिंह, छोटे भाई इंद्रपाल गांव में खेती करते है.

watch live tv: