close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जौनपुर: पानी-पानी हुआ गांव, जिंदगी बचाने की न्याय पंचायत भवन में ली शरण

पूरा मामला सिंगरामऊ थाना क्षेत्र के केवटली गांव के निषाद बस्ती का है, जहां गांव में पानी भरने से आधा दर्जन घर गिर गए हैं और लोग पलायन को मजबूर हैं. जलभराव के कारण गांव की सड़के भी टूट गई है. कई जगह लोगों ने पानी निकासी के लिए सड़क भी काट दी है. 

जौनपुर: पानी-पानी हुआ गांव, जिंदगी बचाने की न्याय पंचायत भवन में ली शरण
बेघर हुए परिवारों ने न्याय पंचायत भवन में शरण ली है.

जौनपुर: जौनपुर (Jaunpur) के बदलापुर तहसील में बाढ़ के चलते ऐसे हालात बन गए हैं कि लोगों को न्याय पंचायत भवन में शरण लेनी पड़ रही है. खबर सिंगरामऊ के केवटली गांव की है, जहां पानी भरने के चलते 6 मकान गिर चुके हैं और जलभराव होने से सड़कें भी टूट गई हैं. बेघर हुए परिवारों ने न्याय पंचायत भवन में शरण ली है. 

पूरा मामला सिंगरामऊ थाना क्षेत्र के केवटली गांव के निषाद बस्ती का है, जहां गांव में पानी भरने से आधा दर्जन घर गिर गए हैं और लोग पलायन को मजबूर हैं. जलभराव के कारण गांव की सड़के भी टूट गई है. कई जगह लोगों ने पानी निकासी के लिए सड़क भी काट दी है. 

भारी बारिश के चलते बेघर हुए असहाय गरीब परिवार के लोगों ने न्याय पंचायत भवन में शरण लिए हैं. वहीं, गरीब परिवारों का ग्राम प्रधान पर आरोप लगाया कि दो दिनों तक भीगते हुए रोड पर लोग बिताए. दो दिनों तक न्याय पंचायत भवन का चाभी प्रधान ने नहीं दी, जिसकी शिकायत कुछ ग्रामीणों ने एसडीएम से की. उसके बाद न्याय पंचायत भवन के दो रूम का ताला खोला गया.

लाइव टीवी देखें

इस मामले में एडीएम आरती मिश्र ने बताया कि बाढ़ पीड़ितों को पंचायत भवन में रुकने की व्यवस्था की गई है. प्रधान द्वारा कुछ आपत्ति का मामला सामने आया था, जिसको सुलझा लिया गया है. अब वह पंचायत भवन में ठहरे हैं. खाने-पीने के लिए मिड डे मील सभी व्यवस्थाएं कराई गई है.