UP:जौनपुर में ड्रोन कैमरे से 'तेंदुए' की तलाश

जौनपुर के गांव में हमला कर चार लोगों को घायल कर देने वाला कोई तेंदुआ है या कोई और जानवर इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है. वो कहीं झाड़ियो में छिपा है. वन विभाग ने ड्रोन कैमरा मंगवाया है. क्या हमलावर मिलेगा? और अगर ड्रोन कैमरे ने उसे खोज निकाला तो क्या वो तेंदुआ ही निकलेगा?  

UP:जौनपुर में ड्रोन कैमरे से 'तेंदुए' की तलाश

अजीत सिंह/जौनपुर: जौनपुर के सिकरारा थाना अंतर्गत सोनपुरा गांव में एक तेंदुए की वजह से सैकड़ों गांव वाले दहशत में हैं. इससे पहले कि तेंदुआ उन पर हमला कर दे वो खुद एकजुट हो कर लाठी डंडे से लैस हो कर उस पर काबू पाने के लिए पूरे गांव की निगरानी कर रहे हैं। 

तेंदुआ या सिर्फ खौफ?
हालांकि सवाल ये भी है कि गांव या उसके आसपास तेंदुआ है भी या नहीं. वन विभाग ने तेंदुए की होने की पुष्टि नहीं की है. गांव के लोग तेंदुए के होने का दावा कर रहे है.  उनके दावे की ठोस वजह है. जानवर के हमले में गांव के चार लोग घायल हो चुके हैं . गांव वालों की सूचना पर वन विभाग की टीम गांव ने रविवार को ही  गांव में डेरा डाल दिया था लेकिन वो हमला करने वाले जानवर को नहीं पकड़ पाई . 

DFO ए पी पाठक की मानें तो तेंदुआ है या कोई और जानवर इसकी पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई है क्योंकि वो कहीं झाड़ियो में छिपा है. DFO का कहना है कि ड्रोन कैमरा मंगाया गया है जिससे पहले उसे देखा जाएगा कि तेंदुआ है या कोई और जंगली जानवर. लखनऊ और कानपुर की टीम को भी सूचना दे दी गई है 

तेंदुआ नहीं तो हमला किसने किया?
सिकरारा के सोनपुरा गांव स्थित गुलाब यादव ने ज़ी मीडिया से बात करते हुए बताया कि वो रविवार की सुबह करीब साढ़े सात बजे सरसो का खेत देखने अपने साथी के साथ गया था. उनके साथ पालतू कुत्ता भी था तभी वहां तेंदुए जैसे किसी जानवर  को देख कर कुत्ता भौंकने लगा. नीतीश थोड़ा आगे बढ़ा तो सरसों के खेत में छिपे किसी जानवर ने उस पर हमला कर उसकी पीठ को पंजे के वार से जख्मी कर दिया.

हमलावर को खोजेगा ड्रोन कैमरा 

जंगली जानवर के हमले के बाद वो लोग शोर मचाते हुए गांव की तरफ भाग आए.  शोर सुनकर गांव के लोग लाठी- डंडा लेकर नदी की तरफ दौड़ पड़े. खेत में काफी खोजबीन के बाद भी जानवर नहीं दिखाई पड़ा. जंगली जानवर की आशंका में गांव वालों ने पुलिस को सूचना दी . पुलिस जख्मी शख्स को अस्‍पताल लेकर पहुंची और उसका इलाज कराया. ग्रामीणों ने बताया कि हम लोगो को आशंका है कि हमलावर जानवर  खेतों में ही छिपा है.  इसलिए वन विभाग को सूचना दी गई.  वन विभाग की टीम गांव में डेरा डाले हुए है. ड्रोन कैमरे से भी उस जानवर की खोजबीन की जा रही है.  अब देखना होगा वो कब तक हमला करने वाले जानवर को पकड़ने में सफलता हासिल कर पाती है और क्या वो जानवर तेंदुआ ही है?