थाने में प्रेमी-प्रेमिका कर रहे थे शादी, तभी पीछे से पहुंच गई लड़की की मां, फिर हुआ ये फैसला

युवती के परिजनों के द्वारा दी जा रही धमकी से परेशान होकर दोनों ने पहले आर्य समाज मंदिर में शादी की. इसके बाद शहर कोतवाली थाना पहुंचकर पुलिस के सामने दोनों ने एक दूसरे को माला पहनाकर अपना जीवन साथी बनाया.

थाने में प्रेमी-प्रेमिका कर रहे थे शादी, तभी पीछे से पहुंच गई लड़की की मां, फिर हुआ ये फैसला

अब्दुल सत्तार/ झांसी: हर लड़की का सपना होता कि उसकी शादी हो और जीवनसाथी जिन्दगी भर उसका साथ निभाये, कुछ ऐसा ही सपना झांसी शहर की रहने वाली एक युवती ने सजोकर पड़ोस के ही एक युवक से प्रेम संबध बनाये थे. लेकिन दोनों के इस रिश्ते को लड़की के परिजन पसंद नहीं करते थे और दोनों को धमकियां दे रहे थे.

थाने में माला पहनाकर एक-दूसरे को बनाया जीवन साथी
युवती के परिजनों के द्वारा दी जा रही धमकी से परेशान होकर दोनों ने पहले आर्य समाज मंदिर में शादी की. इसके बाद शहर कोतवाली थाना पहुंचकर पुलिस के सामने दोनों ने एक दूसरे को माला पहनाकर अपना जीवन साथी बनाया, जिसके साक्षी वहां मौजूद पुलिस कर्मी बनें. 

क्या है पूरा मामला?
दरअसल, पूरा मामला झांसी शहर थाना क्षेत्र का है. जहां रहने वाले सुरेंद्र वर्मा और नन्दनी लगभग तीन साल से एक दूसरे से प्रेम सम्बन्ध थे. दोनों एक-दूसरे से विवाह करना चाहते थे, इस शादी के लिए सुरेंद्र के परिजन तो तैयार थे लेकिन नन्दनी के माता-पिता विरोध कर रहे थे. इसके बाद दोनों ने आर्य समाज मंदिर में शादी की और इसके बाद पुलिस से सुरक्षा मांगने शहर कोतवाली पहुंच गए.

लड़की की मां भी पहुंची थाने
पूरे मामले की जानकारी मिलने पर लड़की की मां भी थाने पहुंच गई और शादी को लेकर आपत्ति दर्ज कराई. लड़की की मां की आपत्ति को दरकिनार कर पुलिस की मौजूदगी में प्रेमी युगल ने एक दूसरे को माला पहनाकर जीवन भर साथ रहने की कसम खाई. इसके बाद पुलिस ने दोनों को सुरक्षा का आश्वासन देकर लड़के के घर के लिए रवाना किया.

WATCH LIVE TV