close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चिन्मयानंद रेप केस: पीड़िता के लिए 'न्याय-पदयात्रा' निकालने पर अड़ी कांग्रेस, कई नेता पुलिस हिरासत में

कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद और कांग्रेस विधायक अजय कुमार लल्लू समेत कई नेताओं को नजरबंद कर दिया है. कार्रवाई के बावजूद कांग्रेस के नेता पदयात्रा के लिए डटे हुए हैं.

चिन्मयानंद रेप केस: पीड़िता के लिए 'न्याय-पदयात्रा' निकालने पर अड़ी कांग्रेस, कई नेता पुलिस हिरासत में
कई कांगेसी नेता नजरबंद (फोटो साभारः Zee UP-UK)

नई दिल्ली: चिन्मयानंद रेप केस में रोज एक नया मोड़ आ रहा है जहां चिन्मयानंद को अस्पताल में ट्रीटमेंट मिल रहा है तो वहीं पीड़ित लड़की पर मुकदमा करके उसे शाहजहांपुर जेल में रखा गया है. देश के कई बड़े नेता इस बात का विरोध कर रहे है और पीड़िता को न्याय दिलाने की बात कर रहे हैं. इसी कड़ी में कांग्रेस 'न्याय-पदयात्रा' निकालने जा रही थी जिसे पुलिस बल ने रोक दिया है और जितिन प्रसाद सहित कई कांग्रेसी नेताओं को हिरासत में लेकर नजरबंद कर दिया गया है. 

कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद और कांग्रेस विधायक अजय कुमार लल्लू समेत कई नेताओं को नजरबंद कर दिया है. इसके साथ ही शाहजहांपुर जिला कांग्रेस कार्यालय पर लगे टेंट को भी उखाड़कर फेंक दिया गया है. कार्रवाई के बावजूद कांग्रेस के नेता पदयात्रा के लिए डटे हुए हैं. कांग्रेस की न्याय यात्रा को देखते हुए शाहजहांपुर में टाउन हॉल स्थित कांग्रेस दफ्तर के चारों तरफ बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. इतना ही नहीं हर आने-जाने वाले व्यक्ति पर नजर रखी जा रही है. कई थाने की फोर्स तैनात की गई है. साथ ही पीएसी के अलावा महिला पुलिस बल की भी खासी संख्या में तैनात की गई है. 

चिन्मयानंद ब्लैकमेलिंग मामला: पीड़िता को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

 

बता दें कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी योगी सरकार की निंदा करते हुए पीड़िता के लिए न्याय की मांग की है. प्रियंका ने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट करते हुए लिखा कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों को सरकार का सरंक्षण है कि वो बलात्कार से पीड़ित लड़की को डरा-धमका सकें. लेकिन, उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार शाहजहांपुर की बेटी के लिए न्याय मांगने की आवाज को दबाना चाहती है. पदयात्रा रोकी जा रही है. हमारे कार्यकर्ताओं, नेताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है. डर किस बात का है?