जानिए कल्याण सिंह ने क्यों कहा, 'अयोध्या में 2022 तक बन जाना चाहिए राम मंदिर'

बीजेपी नेता कल्याण सिंह ने कहा कि 1992 में कानून व्यवस्था बनाए नहीं रख पाया था. जिसकी कीमत 1992 में ही उसी दिन मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देकर चुका दी थी. 

जानिए कल्याण सिंह ने क्यों कहा, 'अयोध्या में 2022 तक बन जाना चाहिए राम मंदिर'
कल्याण सिंह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने एएसआई (ASI) की रिपोर्ट को माना है. खुदाई में जो सामग्री मिली, वो इस्लाम के सिद्धांतों के अनुकूल नहीं है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रहे बीजेपी नेता कल्याण सिंह ने सोमवार को कहा कि 2022 तक अयोध्या में राम मंदिर बन जाना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या मामले में विवादित भूमि पर आए फैसले के बाद कल्याण सिंह ने यह बात कही. गौरतलब है कि 2022 में यूपी विधानसभा के चुनाव हो सकते हैं. बीजेपी नेता कल्याण सिंह ने सोमवार को प्रेसवार्ता कर कहा कि हमें उम्मीद है कि यूपी की योगी सरकार अयोध्या का रोजगारपरक विकास करेंगी. 

बीजेपी नेता कल्याण सिंह ने कहा कि 1992 में कानून व्यवस्था बनाए नहीं रख पाया था. जिसकी कीमत 1992 में ही उसी दिन मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देकर चुका दी थी. इसी के साथ उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर कहा कि 9 नवंबर 2019 का दिन ऐतिहासिक था. सुप्रीम कोर्ट के पांचों जजों ने 500 साल पुराने विवाद का हल निकाल दिया. उन्होंने कहा कि सभी लोग इस फैसले का स्वागत करें. न्याय की दृष्टि से फैसला पारदर्शी है. इस फैसले को किसी की जीत और हार के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए.

कल्याण सिंह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने एएसआई (ASI) की रिपोर्ट को माना है. खुदाई में जो सामग्री मिली, वो इस्लाम के सिद्धांतों के अनुकूल नहीं है. उन्होंने कहा कि मस्जिद खाली ज़मीन पर नहीं बनाई गई. उन्होंने कहा कि लोगों का संकल्प साकार होने जा रहा है. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को आदेश दिया है कि 3 महीने में ट्रस्ट का गठन करे. यह अधिकार किसी व्यक्ति विशेष को नहीं दिया गया. 

उन्होंने कहा कि मेरा अनुमान है कि 2022-23 तक अयोध्या में राम मंदिर बन जायेगा. उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि अयोध्या में काफी भव्य मंदिर बनना चाहिए. देश-विदेश से लोग आएं. उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि सीएम योगी आदित्यनाथ अयोध्या को विश्व पटल पर एक तीर्थ स्थल का रूप देंगे. करोड़ों लोगों के साथ-साथ मुझे इस फैसले से बेहद ख़ुशी हुई है. 

वहीं, उन्होंने सीबीआई कोर्ट में चल रहे केस को लेकर कहा कि कई गवाहों के बयान दर्ज़ होने हैं. मुझे जो कहना है, वो कोर्ट में कहूंगा. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बाबरी विध्वंस की घटना लॉ एंड आर्डर का मामला था. लॉ एंड आर्डर न मेन्टेन कर पाने के चलते मैंने खुद ज़िम्मेदारी ली और इस्तीफ़ा दिया. वहीं, उन्होंने कहा कि अयोध्या जरूर जाऊंगा लेकिन तारीख अभी तय नहीं है.