हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड में बड़ी कार्रवाई, आरोपियों पर लगाया गया NSA

हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या 18 अक्टूबर 2019 को राजधानी लखनऊ में हुई थी. आरोपियों ने उनके पार्टी कार्यालय में घुसकर उनकी निर्मम हत्या कर दी थी. हत्यारे उनकी पार्टी के लिए कार्य करने के बहाने से उनसे मिलने आए थे.

हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड में बड़ी कार्रवाई, आरोपियों पर लगाया गया NSA
हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हुई थी हत्या (FILE PHOTO)

लखनऊ: हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या के आरोपियों पर रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) लगाया गया है. लखनऊ के जिला मजिस्ट्रेट ने लखनऊ जेल में बंद हत्याकांड के आरोपी यूनुस खान और आसिम अली पर रासुका (NSA) लगाने की नोटिस तामील कराई है. दोनों आरोपी लखनऊ जेल में बंद हैं औरर जेल में ही उन पर रासुका लगाए जाने की नोटिस तामील की गई है. 

18 अक्टूबर 2019 को हुआ था हत्याकांड
हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या 18 अक्टूबर 2019 को राजधानी लखनऊ में हुई थी. आरोपियों ने उनके पार्टी कार्यालय में घुसकर उनकी निर्मम हत्या कर दी थी. हत्यारे उनकी पार्टी के लिए कार्य करने के बहाने से उनसे मिलने आए थे. हिंदूवादी नेता की राजधानी में हुई निर्मम हत्या से सभी स्तब्ध रह गए थे. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक कमलेश तिवारी को 15 बार चाकू से गोदा गया था और फिर उनके चेहरे पर भी गोली मारी गई थी. 

इसे भी पढ़िए: कानपुर बालिका संरक्षण गृह कांड के बाद बाल आयोग ने दिए सभी DM को ये निर्देश

कमलेश हत्याकांड में हुई थीं 7 गिरफ्तारियां 
हत्यकांड के मामले में गुजरात एटीएस (ATS) ने 22 अक्टूबर 2019 को अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन खुर्शीद पठान को गिरफ्तार किया था. दोनों ही गुजरात के सूरत जिले के निवासी हैं. अशफाक एक जानी-मानी मेडिकल कंपनी के लिए मेडिकल रिप्रजेंटेटिव के रूप में कार्य कर रहा था, जबकि मोइनुद्दीन फूड डिलिवरी बॉय के तौर पर काम कर रहा था. हत्या की साजिश रचने और हत्यारों को मदद पहुंचाने का आरोप में पुलिस ने इनके अलावा भी 5 लोगों को गिरफ्तार किया था.

WATCH LIVE TV