close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बड़ा खुलासा: हत्यारोपी अशफाक ने रोहित सोलंकी के नाम से ली थी हिंदू समाज पार्टी की सदस्यता

हत्यारोपी अशफाक ने रोहित सोलंकी के नाम से कमलेश तिवारी की हिंदू समाज पार्टी की सदस्यता ली थी और पार्टी ने जून 2019 में उसे सूरत शहर के आईटी सेल का प्रचारक नियुक्त किया था.

बड़ा खुलासा: हत्यारोपी अशफाक ने रोहित सोलंकी के नाम से ली थी हिंदू समाज पार्टी की सदस्यता
हत्यारोपी अशफाक और मोइनुद्दीन पठान पर ढाई-ढाई लाख का ईनाम घोषित किया गया है.

लखनऊ: हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder Case) में एक और खुलासा हुआ है. हत्या करने वाले दो आरोपियों में एक अशफाक ने रोहित सोलंकी के नाम से कमलेश तिवारी की हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) की सदस्यता ली थी और पार्टी ने जून 2019 में उसे सूरत शहर के आईटी सेल का प्रचारक नियुक्त किया था. कत्ल के दोनों आरोपी मुईनुद्दीन शेख और अशफाक शेख अब भी फरार हैं. पुलिस को शाहजहांपुर से एक सीसीटीवी फुटेज मिला है जिसमें आरोपी दिखाई दे रहे हैं.

इसी बीच, हत्याकांड के तीन साज़िशकर्ताओं को यूपी पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ ले आई है जिनसे एसटीएफ और एटीएस पूछताछ कर रही है. 19 अक्टूबर को गुजरात ATS ने हत्याकांड के मास्टरमाइंड रशीद पठान, मोहसिन शेख और फ़ैजान को सूरत से गिरफ़्तार किया था. तीनों साज़िशकर्ताओं को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा. इस बीच यूपी पुलिस को नागपुर से गिरफ़्तार एक और संदिग्ध की भी ट्रांजिट रिमांड मिल गई है जिसे लखनऊ लाया जा रहा है. 
 
शाहजहांपुर में दिखाई दिए संदिग्ध हत्यारे 
लखनऊ के कमलेश तिवारी हत्याकांड के संदिग्ध हत्यारे शाहजहांपुर में दिखाई दिए हैं जिसके बाद एसटीएफ ने होटलों और मदरसों के मुसाफिरखानो में ताबड़तोड़ छापेमारी की. सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध दिखाई दिए हैं. फिलहाल एसटीएफ शाहजहांपुर में डेरा जमाए हुए हैं. सूत्रों की मानें तो कमलेश तिवारी हत्या के संदिग्ध हत्यारे लखीमपुर जिले के पलिया से इनोवा गाड़ी बुक करा कर शाहजहांपुर पहुंचे थे.

LIVE टीवी:

संदिग्धों की शाहजहांपुर में लोकेशन मिलने पर एसटीएफ ने देर रात 4:00 बजे कई होटलों मदरसों और मुसाफिरखाना में ताबड़तोड़ छापेमारी की. रेलवे स्टेशन पर होटल पैराडाइस में लगे कैमरे की सीसीटीवी फुटेज में दोनों संदिग्ध हत्यारे दिखाई दिए हैं. दोनों संदिग्धों ने रेलवे स्टेशन पर इनोवा गाड़ी छोड़ दी और पैदल रोडवेज बस स्टैंड की तरफ जाते हुए दिखाई दिए हैं. एसटीएफ ने इंनोवा गाड़ी के ड्राइवर को कब्जे में ले लिया है. आशंका व्यक्त की जा रही है कि संदिग्ध शाहजहांपुर में ही कहीं छिपे हुए हैं. एसटीएफ की छापेमारी में होटल वाले भी सकते में है. 

अशफाक, मोईनुद्दीन पर 2.50 लाख का ईनाम घोषित
हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder Case) में यूपी पुलिस ने हत्यारों पर ईनाम घोषित किया है. अशफाक और मोइनुद्दीन पठान पर ढाई-ढाई लाख का ईनाम घोषित किया गया है.