close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

CM योगी से मिले कमलेश तिवारी के परिजन, आरोपियों के लिए की मृत्युदंड की मांग

हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) के परिजन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) से मिलने के लिए लखनऊ स्थित सीएम आवास पहुंच चुके हैं.

CM योगी से मिले कमलेश तिवारी के परिजन, आरोपियों के लिए की मृत्युदंड की मांग

लखनऊः हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) के परिजन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) से मिलने लखनऊ पहुंच चुके हैं, जहां 5 कालीदास मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास पर CM योगी से मुलाकात जारी है. बताया जा रहा है कि, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कमलेश तिवारी के परिजनों की सभी मांगेें मान ली हैं. लखनऊ में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद कमलेश तिवारी की पत्नी किरण तिवारी ने कहा कि, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हमें आश्वासन दिया कि न्याय किया जाएगा. हमने हत्यारों को मृत्युदंड देने की मांग की है. उन्होंने हमें आश्वासन दिया कि उन्हें दंडित किया जाएगा.

बता दें कमलेश तिवारी के परिजनों ने उनके अंतिम संस्कार के पहले प्रशासन के समझ 9 मांगें रखी थीं, जिनमें परिजनों को नौकरी के अलावा आर्थिक सहायता की भी मांग की गई थी. सीएम योगी और भाजपा सरकार से काफी नाराज चल रहे थे. उनका आरोप है कि प्रशासन की लापरवाही के चलते कमलेश तिवारी की जान गई है, क्योंकि जिस दिन उनकी हत्या हुई, उसी दिन उनकी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी देरी से पहुंचे थे. कमलेश तिवारी के परिजन सीएम योगी से मुलाकात करने के लिए अड़े थे, जिसके चलते कमिश्नर लखनऊ मुकेश कुमार मेश्राम और आइजी जोन एसके भगत ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कराने सहित नौ मांगों के सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए थे.

 

बता दें कमिश्नर लखनऊ मुकेश कुमार मेश्राम और आइजी जोन एसके भगत सीतापुर के महमूदाबाद पहुंचे थे, जहां उन्होंने परिवार की मुलाकात योगी आदित्यनाथ से कराने सहित नौ मांगों के सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए थे. इसके बाद परिवार अंतिम संस्कार करने के लिए राजी हुआ, जिसके बाद शनिवार दोपहर को कमलेश तिवारी के बड़े बेटे सत्यम तिवारी ने उन्हें मुखाग्नि दी.

देखें LIVE TV

बता दें कमलेश तिवारी के परिजनों का आरोप है कि कमलेश तिवारी की सुरक्षा में जिन पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था वह उस दिन देरी से आए थे, जिस दिन कमलेश तिवारी की हत्या हुई. ऐसे में उन्हें किसी पर विश्वास नहीं है. कमलेश तिवारी के परिवार ने उनकी हत्या पर एनआईए (NIA) जांच की भी मांग की है और लगातार प्रदेश सरकार पर हमला कर रहे हैं.

गौरतलब है कि हिंदू समाज पार्टी के नेता और हिंदू महासभा के पूर्व नेता कमलेश तिवारी की शुक्रवार को दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई. उन्हें तत्काल ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया. भगवा वस्त्र पहने हमलावर मिठाई का डिब्बा सौंपने के बहाने खुर्शीद बाग इलाके में स्थित तिवारी के कार्यालय में घुसे थे.