close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पुलिस का दावा-भूख के कारण नहीं हुई 7 माह के बच्‍चे की मौत, हो सकती है दूसरी वजह

खबर आई थी कन्नौज में छिबरामऊ कोतवाली के अंतर्गत कस्बे में रहने वाली रुखसार को जब भूख से तड़पते अपने बच्चे की चीखें बर्दाश्त नहीं हुईं, तो उसने गला दबाकर 7 माह के बच्चे की हत्या कर दी.

पुलिस का दावा-भूख के कारण नहीं हुई 7 माह के बच्‍चे की मौत, हो सकती है दूसरी वजह

कन्‍नौज: यूपी के कन्नौज में 7 महीने के अहद की मौत की कहानी ने सब को झकझोर कर रख दिया है. कहा गया कि एक मां को जब भूख से बिलखते अपने बच्‍चे की चीखें बर्दाश्‍त नहीं हुईं तो उसने उसका गला दबा दिया. लेकिन कन्नौज DM रविंद्र कुमार ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए इन सभी बातों को नकार दिया है. DM ने कहा कि उसकी मौत गला दबाने से ही हुई है. लेकिन पोस्टमार्टम में भूख कुपोषण का कोई मामला सामने नहीं आया है. माँ को हिरासत में ले लिया गया है. लेकिन अभी तक किसी प्रकार की कोई तहरीर नही मिली है.

 

क्या था मामला
यूपी के जिला कन्नौज में छिबरामऊ कोतवाली के अंतर्गत कस्बे में रहने वाली रुखसार को जब भूख से तड़पते अपने बच्चे की चीखें बर्दाश्त नहीं हुईं, तो उसने गला दबाकर 7 माह के बच्चे की हत्या कर दी. मामला खुला तो पुलिस मौके पर आई. छिबरामऊ के बिरतिया मोहल्ले की रुखसार के तीन बच्चे हैं. मुंबई में नौकरी करने वाले पति शाहिद से उसका झगड़ा हो गया था. इस कारण 4-5 महीने से वह घर पर खर्च के लिए रुपए नहीं भेज रहा था. मुश्किल हालात में रुखसार किसी तरह अपने बच्चों का पेट भर रही थी. कुछ महीने पहले उसके 8 महीने के बेटे अहद को खून में संक्रमण हो गया था. जेवरात और घर का सामान बेच 90 हजार रुपये से अहद का आगरा में इलाज करवाया गया.

3-4 दिन से उसके पास एक रुपया भी नहीं था. गुरुवार शाम बुखार से तपते बेटे को लेकर रुखसार डॉक्टर के पास पहुंची, लेकिन उधार चुकाए बिना वह दवा देने को तैयार नहीं हुए. इस बीच बच्चा भूख से भी बिलबिला रहा था. सुबह करीब 6 बजे रुखसार ने बच्चे को पानी में चीनी घोलकर पिलाई. वह सो गया. 8:30 बजे तक बच्चा नहीं उठा तो करीब रहने वाले परिवार के लोगों को शक हुआ. चश्मदीद बच्चों ने बताया कि मां ने भाई को गला दबाकर मार डाला है.

मृतक की दादी का आरोप, पुलिस करती कार्रवाई तो आज जिंदा होता मेरा बच्चा
इससे एक दिन पहले मासूम अहद की दादी शिकायत लेकर छिबरामऊ थाने पहुंची थी और प्रभारी को बताया की उसके पोते को उसकी मां मार देगी, लेकिन पुलिस ने उसकी शिकायत को गंभीरता से लेकर उसे थाने से भगा दिया और कहा जब मार दे तब आना तो उसे गिरफ्तार कर लेंगे.

वहीं इस मामले में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को भाजपा सरकार पर निशाना साधा. छिबरामऊ में मां के बच्चे की हत्या करने के मामले में बोले, अगर ये खबर सही है कि भूख के कारण बच्चे की हत्या कर दी गई तो सोचो समाज में क्या चल रहा है. आज भूख के कारण लोगों की जान जा रही है.