close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कानपुरः कचरे के कारण इन गांवों के युवा हैं कुंवारे, न जाती है कोई बारात, न उठती कोई डोली

गांव के लोगों का कहना है कि रिश्‍ते वाले तो गांव के लड़के देखने के लिए खूब आते हैं, लेकिन जब वो कूड़ा प्लांट और उससे फैली गांव में गंदगी को देखते हैं, तो वापस हो जाते हैं.

कानपुरः कचरे के कारण इन गांवों के युवा हैं कुंवारे, न जाती है कोई बारात, न उठती कोई डोली

संकल्प दुबे, कानपुरः उत्तर प्रदेश के कानपुर में दिल्ली नेशनल हाइवे के किनारे कुछ ऐसे गांव हैं, जहां लड़कों की शादी नहीं हो रही है. जी हां, सुनने में भले ही आपको अजीब लग रहा हो, लेकिन यह सच है. इतना ही नहीं इसके पीछे का कारण यकीन मानिए आपको हैरत में डाल देगा. इन गांवों का नाम है बदुआपुर, पनकी पड़ाव, जमुई और सरायमिता. यहां के लोग गंदगी और दुर्गंध से परेशान हैं. गांवों में इन समस्यायों की वजह है कानपुर नगर निगम का सॉलिड वेस्टेज कूड़ा प्लांट. कूड़ा प्लांट इन गांवों से सटा हुआ है, जिसकी वजह से गांव में गंदगी, दुर्गंध और बीमारियां फैली रहती हैं. इसके कारण कोई भी अपनी लड़की की शादी इस गांव में नहीं करना चाहता है.

कूड़ा प्लांट की गंदगी से गांव में दुर्गंध और बीमारियां फैल चुकी हैं. जिसके चलते लडकों की शादी नहीं हो रही है. गांव के लोगों का कहना है कि रिश्‍ते वाले तो गांव के लड़के देखने के लिए खूब आते हैं, लेकिन जब वो कूड़ा प्लांट और उससे फैली गांव में गंदगी को देखते हैं, तो वापस हो जाते हैं. इतना ही नहीं, इन गांवो के ज्‍यादातर लोग गंभीर बीमारियों की चपेट में हैं, तो वे रिश्ता करने के लिए तैयार नहीं होते हैं. आलम यह है कि कई लोगों की शादी तय होने के बावजूद टूट चुकी है.

देखें LIVE TV

बीच सड़क पर हाईवोल्टेज ड्रामा, पत्नी ने पति को खंभे से बांधकर पीटा

गांव के सैकड़ो लड़के कुंवारे ही घूम रहे हैं. गांव की ही एक महिला का कहना है कि उनको कूड़ा प्लांट की वजह से दमे की बीमारी है और उनका बेटा शादी के लायक है, लेकिन इस बीमारी और गंदगी के कारण उसकी शादी नहीं हो पा रही है. जब इस मामले में नगर आयुक्त संतोष शर्मा से बात की गई तो उन्होंने गोल मोल जबाब देते हुए कहा कि कूड़ा वहां डंप्प होता है, लेकिन आज पास के लोगों का हेल्थ कैम्प लगाएंगे कह कर अपनी जिम्मेदारी निभा दी.

UP: वाहन चेकिंग के दौरान दबंगई दिखा पुलिस से भिड़े BJP नेता, दरोगा ने कर दी पिटाई

कानपुर नगर निगम का यह सॉलिड वेस्टेज कूड़ा प्लांट इन गांवों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है. ग्रामीणों का कहना है कि वो कूड़ा प्लांट की समस्या को लेकर शासन से प्रशासन तक से गुहार लगा चुके हैं, लेकिन इन ग्रामीणों को केवल आश्वासन ही मिला है. आज तक इनकी समस्यायों का समाधान नहीं हो सका है. ग्रामीण आज भी आस लगाए बैठे हैं कि शायद कोई चमत्कार हो और उनकी ये समस्याएं दूर हो जाएं. ताकि कोई उनके लड़को को लड़की देने को तैयार हो जाए.