close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कौशांबी : पलायन की जांच करने पहुंचीं कांग्रेस और सपा की टीमें, राहुल-अखिलेश को भेजेंगे रिपोर्ट

कौशांबी के सुरसेना गांव से हाल ही में धर्म विशेष की महिलाओं ने बच्‍चों समेत कर दिया है पलायन.

कौशांबी : पलायन की जांच करने पहुंचीं कांग्रेस और सपा की टीमें, राहुल-अखिलेश को भेजेंगे रिपोर्ट
कौशांबी में कुछ दिनों पहले ही महिलाओं ने बच्‍चों समेत किया है पलायन. (फाइल फोटो)

कौशांबी : उत्‍तर प्रदेश के कौशांबी के सुरसेना गांव में हाल में पुलिस के उत्‍पीड़न के कारण हो रहे धर्म विशेष की महिलाओं के पलायन के मामले की जांच करने कांग्रेस की एक टीम सुरेसना गांव पहुंची. कांग्रेस की इस टीम में पांच सदस्‍य हैं. ये टीम जिला अध्यक्ष तलत अजीम के नेतृत्‍व में गांव पहुंची है. इस टीम ने गांव में बंद पड़े घरों की तस्‍वीरें लीं. कांग्रेस की यह टीम गांव में हो रहे पलायन की अपनी रिपोर्ट केंद्रीय नेतृत्‍व को भी सौंपेगी. जांच दल का कहना है कि यह जांच रिपोर्ट कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी को भेजी जाएगी.

सुरसेना गांव पहुंचे जांच दल ने पलायन की खबरों पर स्‍थानीय लोगों से भी बातचीत की. लोगों ने उन्‍हें बताया कि सराय अकिल पुलिस पिछले 15 दिनों से धर्म विशेष की बस्तियों में देर रात आकर घरों के दरवाजे खुलवाकर अपराधियों की तरह औरतों और बच्चियों से व्‍यवहार करती थी. जिला अध्यक्ष तलत अजीम के मुताबिक उन्हें कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व ने गांव में हो रही पलायन के हालत पर रिपोर्ट बनाकर देने के लिए निर्देशित किया गया है. इसके लिए वह गांव में पहुंचे हैं. गांव की स्थिति की एक विस्तार से रिपोर्ट बनाकर राष्‍ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को भेजी जाएगी.

उत्‍तर प्रदेश में इन दिनों पलायन की घटनाओं में तेजी आ रही है. कैराना, संभल और मुजफ्फरनगर के बाद अब पलायन की खबर कौशांबी से आ रही है. यहां के सुरसेना गांव की वर्ग विशेष की महिलाओं ने पुलिस पर उनके उत्‍पीड़न का आरोप लगाया है. इसी के साथ ही रविवार को बड़ी संख्‍या में महिलाओं ने अपने-अपने घरों पर ताले डाल दिए हैं और गांव छोड़कर चली गई हैं.

इस गांव में पलायन की जांच करने समाजवादी पार्टी का दल भी पहुंचा है. सपा जांच दल में जिलाध्यक्ष खड़क सिंह पटेल के नेतृत्व में पूर्व सांसद शैलेन्द्र कुमार समेत 5 सदस्यीय टीम ने गांव में बचे औरतों और बच्चों से बात की. जिसमें लोगों ने बताया कि सराय अकिल पुलिस किस तरह से धर्म विशेष के लोगों का उत्पीड़न कर रही है. अब तक पुलिस उत्पीडन के चलते 200 औरतों और बच्चों ने अपने घरों को छोड़ दिया है. लगातार हो रहे पलायन में मामले पर जांच दल के सदस्य पूर्व सपा सांसद शैलेन्द्र कुमार के मुताबिक हमने अपने राजनैतिक जीवन में पुलिस के उत्पीड़न का ऐसा मामला नहीं देखा. राजनैतिक दुर्भावना से धर्म विशेष के लोगों पर एकतरफा कार्यवाही की जा रही है. हम लोग जांच के बाद इसकी पूरी रिपोर्ट राष्‍ट्रीय अध्यक्ष को देकर उनसे मांग करेंगे कि वह इस मामले को प्रदेश और राष्‍ट्रीय स्तर पर उठाएं. जिससे इस पूरे मामले में न्यायिक जांच हो सके और पीड़ित लोगों को इंसाफ मिल सके.