close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कजाकिस्तान की सेना को युद्ध कौशल सिखा रही है INDIAN आर्मी, जारी है संयुक्त युद्धाभ्यास

संयुक्त अभ्यास के दौरान भारतीय सेना द्वारा इस्तेमाल की जाने वाले हथियारों की एक प्रदर्शनी भी लगाई गयी.

कजाकिस्तान की सेना को युद्ध कौशल सिखा रही है INDIAN आर्मी, जारी है संयुक्त युद्धाभ्यास
14 दिनों तक चलने वाले इस संयुक्त सेनाभ्यास में कज़ाकिस्तान की तरफ से 14 अधिकारी, 46 जवान हिस्सा ले रहे हैं.

कोमल मेहता/पिथौरागढ़: उत्तराखंड की पिथौरागढ़ छावनी में भारत और कज़ाकिस्तान की सेनाओं के बीच चल रहा संयुक्त युद्धाभ्यास काज़िंद 2019 लगातार चौथे दिन भी जारी रहा. इस दौरान दोनों देशों के सैनिकों ने काउंटर टेररिस्ट अभियान के दौरान काम आने वाली रॉक क्लाम्बिंग तकनीक का अभ्यास किया. जिसमें पहाड़ी से नीचे उतरने और चढ़ने के गुणों का प्रदर्शन किया गया. साथ ही पूरे विश्व में इस्तेमाल की जाने वाली बम डिफ्यूजल सिस्टम का अभ्यास भी किया. दोनों देशो की सैन्य टुकड़ियों ने आईड़ी बम डिस्पोजल की तकनीक को भी साझा किया.

संयुक्त अभ्यास के दौरान भारतीय सेना द्वारा इस्तेमाल की जाने वाले हथियारों की एक प्रदर्शनी भी लगाई गयी. कज़ाकिस्तान के सैनिकों ने हथियारों के बारे में विस्तार से जानकारी ली. इस सैन्य अभ्यास का मकसद दोनों देशों की सैन्य तकनीक को साझा करना है. ताकि युद्ध के दौरान सैनिक सूझबूझ और तालमेल के साथ काम कर दुश्मनों के दांत खट्टे कर सकें. 14 दिनों तक चलने वाले इस संयुक्त सेनाभ्यास में कज़ाकिस्तान की तरफ से 14 अधिकारी, 46 जवान जबकि भारत की ओर से दो राजपूत रेजिमेंट के 13 अधिकारी और 47 जवान हिस्सा ले रहे हैं.