उन्नाव गैंगरेप केस: लखनऊ की CBI कोर्ट में आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर की पेशी आज

पिछली दो तारीखों से कुलदीप सेंगर की पेशी नहीं हो पा रही थी. एक बार स्वास्थ्य गड़बड़ी और दूसरी बार फोर्स की कमी की वजह से आरोपी की पेशी नहीं हो सकी. 

उन्नाव गैंगरेप केस: लखनऊ की CBI कोर्ट में आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर की पेशी आज
CBI ने आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ कई धाराओं में केस दर्ज किए हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली/ लखनऊ: उन्नाव गैंगरेप और पीड़िता के पिता की मौत के मामले में शुक्रवार (22 जून) को आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसकी सहयोगी शशि सिंह की कोर्ट में पेशी होगी. दरअसल, पिछली दो तारीखों से कुलदीप सेंगर की पेशी नहीं हो पा रही थी. जानकारी के मुताबिक, एक बार स्वास्थ्य गड़बड़ी और दूसरी बार फोर्स की कमी की वजह से गैंगरेप के आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर की पेशी नहीं पा रही थी. आपको बता दें कि आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर फिलहाल सीतापुर जिला जेल में बंद है. इस मामले में सीबीआई अब तक 10 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है.

ये भी पढ़ें: उन्नाव गैंगरेप केस: सेंगर की पत्नी के गनर सहित पांच लोगों से CBI ने की पूछताछ

सीबीआई की जांच से विधायक खेमे में खलबली
उन्नाव गैंगरेप केस में सीबीआई की ताबड़तोड़ कार्रवाई से विधायक खेमे में खलबली है. बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर प्रकरण की जांच कर रही सीबीआई ने विधायक की पत्नी के सरकारी गनर और विधायक पक्ष के चार दूसरे लोगों को बुधवार (20 जून) को लखनऊ बुलाकर पूछताछ की है. विधायक के भाई की दूसरी कार सीज किए जाने के बाद वो लोग भी सीबीआई की जांच के दायरे में आ गए हैं, जो किशोरी के पिता की पिटाई के समय इस कार में बैठे थे.

ये भी पढ़ें: उन्नाव गैंगरेप केस : CBI फिर पहुंची माखी गांव, कुलदीप सेंगर के छोटे भाई की गाड़ी को किया सीज 

इन मामलों में दर्ज है केस
CBI ने उन्नाव गैंगरेप आरोपी और बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ धारा 363 (अपहरण), 366 (अपहरण कर शादी के लिए दबाव डालना), 376 (बलात्कार), 506 (धमकाना) और पॉस्को एक्ट के तहत केस दर्ज किया है. इस मामले में माखी थाने के एसओ समेत 6 कॉन्स्टेबल सस्पेंड किए गए हैं. 

क्या है पूरा मामला
उन्नाव गैंगरेप का मामला 4 जून 2017 का है.
बीजेपी विधायक समेत कुछ लोगों के खिलाफ रेप का आरोप है.
17 साल की किशोरी की मां ने कुलदीप सेंगर पर आरोप लगाया है.
3 अप्रैल को विधायक के भाई अतुल पर केस वापस लेने का दबाव बनाने का आरोप है
8 अप्रैल को पीड़ित ने परिवार समेत सीएम हाउस के बाहर आत्मदाह की कोशिश की, जिसके बाद मामले ने तूल पकड़ा
9 अप्रैल को पीड़ित के पिता की उन्नाव जेल में मौत हो गई.
पीड़ित परिवार ने झूठे केस दर्ज कराए जाने का भी आरोप लगाया.
13 अप्रैल को सीबीआई ने कुलदीप सेंगर को गिरफ्तार किया.
इससे पहले भाई अतुल सिंह और अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया.