महामंडलेश्वर बनीं केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति

ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी केंद्रीय मंत्री को अखाड़े की ओर से महामंडलेश्वर की पदवी दी गई है. प्रयागराज में चल रहे कुंभ के दौरान वैदिक मंत्रोच्चार के साथ तेरह अखाड़ों के प्रतिनिधियों ने साध्वी निरंजन ज्योति को चादर ओढ़ाकर महामंडलेश्वर की पदवी दी. इस दौरान उनका पट्टाभिषेक भी किया गया.

महामंडलेश्वर बनीं केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति
महामंडलेश्वर पदवी के लिए कई लोगों ने आवेदन किया था, लेकिन इसके लिए बाजी साध्वी निरंजन ज्योति योग्य पाई गई्ं.

प्रयागराज: केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति को अखाड़े की महामंडलेश्वर की पदवी दी गई है. कुंभ मेले में इसका ऐलान किया गया. ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी केंद्रीय मंत्री को अखाड़े की ओर से महामंडलेश्वर की पदवी दी गई है. प्रयागराज में चल रहे कुंभ के दौरान वैदिक मंत्रोच्चार के साथ तेरह अखाड़ों के प्रतिनिधियों ने साध्वी निरंजन ज्योति को चादर ओढ़ाकर महामंडलेश्वर की पदवी दी. इस दौरान उनका पट्टाभिषेक भी किया गया.

मालूम हो कि साध्वी निरंजन ज्योति इस पट्टाभिषेक के बाद अखाड़े की सोलहवीं महिला महामंडलेश्वर बन गईं. इस पदवी के लिए साध्वी निरंजन ज्योति के अलावा कई संतों ने आवेदन किए थे. बाद में योग्यता के आधार पर केंद्रीय मंत्री को महामंडलेश्वर बनाने का फैसला लिया गया था. अब तक निरंजनी अखाड़े में संतोषी गिरि, संतोषानंद सरस्वती, मां अमृतामयी, योग शक्ति सहित 15 महिला महामंडलेश्वर बन चुकी हैं.

सोमवार सुबह 11 बजे कुंभ मेले क्षेत्र में निरंजनी अखाड़े की छावनी में सभी 13 अखाड़ों के आचार्य महामंडलेश्वर की मौजूदगी में साध्वी निरंजन ज्योति का पट्टाभिषेक किया गया. इसके बाद उन्हें महामंडलेश्वर की पदवी निरंजनी अखाड़े की ओर से दी गई.