कुशीनगर की नंदिता तिवारी का खेलो इंडिया यूथ गेम्स के लिए हुआ चयन, फ्री स्टाइल रेसलिंग में भरेगी दम

जिले के पकड़ीहार पूरब पट्टी गांव में रहने वाले प्रेम तिवारी की 6 बेटियां हैं. उनमें से तीसरे नंबर की बेटी नंदिता तिवारी को बचपन से ही खेल में रुची था. 

कुशीनगर की नंदिता तिवारी का खेलो इंडिया यूथ गेम्स के लिए हुआ चयन, फ्री स्टाइल रेसलिंग में भरेगी दम

कुशीनगर: उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले की बेटी नंदिता तिवारी का फ्री स्टाइल रेसलिंग के लिए खेलो इंडिया यूथ गेम्स में चयन हुआ है. दंगल गर्ल के नाम से मशहूर नंदिता के इस उपलब्धि से पूरे गांव और जिले में खुशी का माहौल है. खेलो इंडिया यूथ गेम्स में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों पर प्रतिवर्ष 5 लाख रुपये सरकार की तरफ से खर्च किया जाता है. 

पिता से सिखा कुश्ती के कुछ दांव पेंच
जिले के पकड़ीहार पूरब पट्टी गांव में रहने वाले प्रेम तिवारी की 6 बेटियां हैं. उनमें से तीसरे नंबर की बेटी नंदिता का बचपन से ही खेल में रुची था. वह शुरू से ही कुश्ती में हाथ अजमाना चाहती थी. पिता प्रेम तिवारी बेटी की मेहनत और लगन को देख खुद को रोक नहीं पाए. नंदिता को देसी स्टाइल में ही कुश्ती की बारीकियां सिखाने लगें. 

मुस्लिम लड़की को हिंदू लड़के से शादी करना पड़ गया भारी, पहले की पिटाई फिर सिर मुंडवाया

राज्य स्तर पर जीत चुकी है गोल्ड 
अखाड़े में उतरकर देसी अंदाज में कुश्ती लड़ने वाली नंदिता अपने मेहनत के बल पर कुशीनगर चैम्पियन भी बनीं. इस दौरान नंदिता की कुश्ती लड़कों से भी कराई गई, जिसमें उसने कई लड़कों को भी पटखनी देकर खुद को साबित किया. वहीं खेल निदेशालय की ओर से हुई कुश्ती में उसे सिल्वर मेडल भी मिला. उत्तर प्रदेश रेसलिंग चैंपियनशिप में उसे गोल्ड मिला तो हिम्मत और बढ़ती गई.

महाराजगंज पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 10 तमंचा के साथ 3 आरोपी गिरफ्तार

बता दें कि खेलो इंडिया यूथ गेम्स में फ्री स्टाइल रेसलिंग के लिए नंदिता का चयन किया गया है. इसमें अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों पर प्रतिवर्ष 5 लाख रुपये की धनराशि खर्च की जाती है ताकि युवा खिलाड़ियों को विश्व स्तर के एथेलिट्स तैयार किया जा सके. 

VIRAL VIDEO: डॉगी की समझदारी की कायल हुई दुनिया, चारों तरह हो रही चर्चा

WATCH LIVE TV