NGT के आदेश के बाद जल्द ही जौहर यूनिवर्सिटी पर चलेगा पीला 'पंजा', ये है कारण

आरोप है कि कोसी नदी की जमीन पर जौहर यूनिवर्सिटी का कब्जा है. नदी की जमीन पर बने अतिक्रमण को तोड़ने के लिए एनजीटी ने आदेश जारी कर दिया है.

NGT के आदेश के बाद जल्द ही जौहर यूनिवर्सिटी पर चलेगा पीला 'पंजा', ये है कारण
फाइल फोटो

रामपुर: समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सांसद आजम खान (Azam Khan) को एक और झटका लगा है. एनजीटी (NGT) के आदेश के बाद जल्द ही जौहर यूनिवर्सिटी (Johar Ali University) पर बुलडोजर चल सकता है. आरोप है कि कोसी नदी (Kosi River) की जमीन पर जौहर यूनिवर्सिटी का कब्जा है. नदी की जमीन पर बने अतिक्रमण को तोड़ने के लिए एनजीटी ने आदेश जारी कर दिया है.

 कोसी नदी की 5 हेक्टेयर जमीन का पट्टा पहले ही रद्द किया जा चुका है. रामपुर के अपर जिला अधिकारी जीपी गुप्ता इस बात की पुष्टि कर चुके हैं. एनजीटी ने 19 सितंबर को आदेश पारित कर दिया है अब इंक्रोचमेंट नदी के ऊपर जो बना है वो तोड़ा जाएगा. 

लाइव टीवी देखें

जीपी गुप्ता के मुताबिक, कोसी नदी की करीब 5 हेक्टेयर रेतीली जमीन को 2013 में 30 साल के लिए मौलाना मोहम्मद अली जौहर ट्रस्ट के पदाधिकारी को लीज पर दी गई थी,  जिसकी लीज कैंसिल की जा चुकी है.