UP: रजिस्ट्री विभाग के दो IAS अफसर हुए आमने-सामने, शुरू हुआ लेटर वॉर

एक बैठक को लेकर एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप करने में जुटे हुए हैं और दोनों ने एक दूसरे को लेटर लिखकर लेटर वॉर कर रहे हैं. 

UP: रजिस्ट्री विभाग के दो IAS अफसर हुए आमने-सामने, शुरू हुआ लेटर वॉर
फाइल फोटो

लखनऊ, (विशाल सिंह रघुवंशी) : यूपी के दो आईएएस के लेटर वार ने नौकरशाही में खलबली मचा दी है. आईएएस अधिकारी हिमांशु कुमार और आईएएस अधिकारी मिनिस्ती एस के बीच चल रही है. कलह अब सतह पर आ गई है और रजिस्ट्री विभाग के ये दो आईएएस अधिकारी आमने-सामने आ गए है. एक बैठक को लेकर एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप करने में जुटे हुए हैं और दोनों ने एक दूसरे को लेटर लिखकर लेटर बम फोड़ दिया है. 

यूपी रजिस्ट्री विभाग के प्रमुख सचिव हिमांशु कुमार ने अपनी अधीनस्थ महानिरीक्षक निबंधन मिनिस्ती एस को गाजियाबाद में हुई मंत्री की बैठक और 11 दिसंबर की एक और बैठक में न आने पर एक पत्र लिखकर कहा कि बैठक के समय मेरे कार्यलय के लैंडलाइन से आपके दोनों मोबाइल नंबर पर फोन किया गया था, लेकिन बात न करके काट दिया गया. जबकि प्रमुख सचिव के कार्यलय का फोन नंबर आपके मोबाइल में सेव होना अपेक्षित है. आपकी अनुपस्तिथि की वजह से बैठक नहीं हो सकी. पत्र के जवाब में 2003 बैच की आईएएस मिनिस्ती एस ने लिखा कि आपकी भाषा शैली बहुत ही आक्रमक है और सेंट्रल सिविल सर्विसेज रूल्स 1964 -1965के आधार पर ये सुसंगत धाराओं में दंडनीय अपराध है.

विभागीय सूत्रों की मानें तो दोनों ही आईएएस अफसरों में पिछले कई महीनो से नहीं बन रही है, जिसकी एक वजह ये भी है कि 1990 बैच के हिमांशु कुमार 2003 बैच की मिनिस्ती एस से 13 साल आईएएस कैडर में सीनियर हैं, लेकिन उनके आदेश के बावजूद लगातार दो बैठक में मिनिस्ती एस नहीं पहुंचीं, जिसकी वजह से हिमांशु कुमार इस बात से नाराज चल रहे थे. 

1990 बैच के आईएएस और रजिस्ट्री विभाग के प्रमुख सचिव हिमांशु कुमार के लेटर के बाद मिनिस्ती एस के जवाबी लेटर ने पूरी नौकरशाही में खलबली मचा दी है, जिसकी चर्चा शासन स्तर पर हो रही है. मिनिस्ती एस की मूल तैनाती आयुक्त खाद्य एवं औसधि सुरक्षा पद पर है और उनको रजिस्ट्री विभाग में अतिरिक्त प्रभार मिला हुआ है. ऐसे में फिलहाल इस लेटर वार के बाद दोनों ही आईएएस कुछ बोल नहीं रहे है. लेकिन इस लेटर वार ने ये साफ कर दिया है कि रजिस्ट्री विभाग में चल रही ये जंग अभी आगे और बढ़ेगी.