close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमेठी में पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल हुईं स्‍मृति ईरानी, अर्थी को दिया कंधा

यूपी के अमेठी में शनिवार-रविवार की दरम्‍यानी रात को जामो पुलिस थानाक्षेत्र के अंतर्गत बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की बदमाशों ने गोली मारकर हत्‍या कर दी. वह स्‍मृति ईरानी के करीबी थे.

अमेठी में पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल हुईं स्‍मृति ईरानी, अर्थी को दिया कंधा
अंतिम यात्रा में शामिल हुईं स्‍मृति ईरानी.

नई दिल्‍ली : अमेठी में शनिवार और रविवार की दरम्‍यानी रात बीजेपी कार्यकर्ता और सांसद स्‍मृति ईरानी के करीबी पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की हत्‍या कर दी गई है. बदमाशों ने सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्‍या की है. अमेठी से नवनिर्वाचित सांसद स्‍मृति ईरानी वहां के बरौलिया गांव जाकर सुरेंद्र सिंह के परिवार से से मिलीं. वह सुरेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा में भी शामिल हुईं. उन्‍होंने इस दौरान अर्थी को कंधा भी दिया.

अमेठी में स्मृति ईरानी के करीबी पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह के शव का पोस्‍टमार्टम लखनऊ मेडिकल कॉलेज में हुआ. 3 डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया है. इस दौरान पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी कराई गई. पोस्‍टमार्टम के बाद परिजन शव लेकर अमेठी रवाना हो गए हैं.

 

यूपी के अमेठी में शनिवार रात दुस्‍साहसिक वारदात को अंजाम दिया गया है. यहां के जामो पुलिस थानाक्षेत्र के अंतर्गत बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान की बदमाशों ने गोली मारकर हत्‍या कर दी.


स्‍मृति ईरानी के करीबी पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्‍या. फाइल फोटो

सुरेंद्र सिंह घर के बाहर सो रहे थे तभी अज्ञात बदमाशों ने उनकी गोली मारकर हत्‍या कर दी गई. इसके बाद बदमाश फरार हो गए. घायल सुरेंद्र सिंह को लखनऊ के ट्रामा सेंटर इलाज के लिए ले जाया जा रहा था, रास्‍ते में ही उन्‍होंने दम तोड़ दिया. पुलिस मामले की जांच कर रही है. पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह अमेठी ने नवनिर्वाचित बीजेपी सांसद स्‍मृति ईरानी के करीबी थे.

 

अमेठी के पुलिस अधीक्षक के अनुसार सुरेंद्र सिंह को देर रात करीब 3 बजे गोली मारी गई है. मामले में कुछ संदिग्‍धों को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है. जांच जारी है. उनके अनुसार उनके अनुसार पुरानी या राजनीतिक रंजिश के चलते सुरेंद्र की हत्‍या होने की आशंका है. 

सुरेंद्र सिंह के चचेरे भाई ने बताया कि हम लोग तो गांव में रहते थे. रात में मेरे लड़के के पास फोन गया कि प्रधान बाबू को किसी ने मार दी है. फिर हम लोग वहां से आए जब यहां आए तो दो चार लोग यहां मौके पर थे. एक ट्राली यहां पर बन रही थी और जब हम लोग आए तो उसके बाद इस चौराहे के लोग आए. हम लोग यहां पहुंचे तो यहां पर लोग इन को लेकर जा चुके थे फिर एक बोलेरो से पीछे पीछे कुछ लोग घर गए. गोली किसने मारी यह पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता लेकिन निश्चित रूप से यह चुनावी रंजिश के कारण गोली मारी गई है.