कानपुर तक पहुंचा टिड्डियों का आतंक, DM ने जारी किया अलर्ट

प्रशासन की ओर से दमकल की गाड़ियों में कैमिकल भरकर तैयार रखा गया है, ताकि टिड्डियों के पहुंचने की सूचना मिलते ही इनका स्प्रे किया जाए. फिलहाल किसान थाली, ढोल, डमरू और डीजे के साथ टिड्डियों को भगाने के लिए तैयार बैठे हुए हैं. 

कानपुर तक पहुंचा टिड्डियों का आतंक, DM ने जारी किया अलर्ट
प्रतीकात्मक फोटो

कानपुर: पाकिस्तान से आया टिड्डियों का दल बुंदेलखंड से होते हुए कानपुर तक पहुंच गया है. कानपुर देहात से होते हुए टिड्डी दल के शहरी इलाकों में पहुंचने की खबर है. प्रशासन ने गंगा बैराज और उसके आस-पास के इलाकों में अलर्ट जारी किया है. कानपुर के डीएम डॉ. ब्रह्मदेव तिवारी ने टिड्डी दल के आने की खबर मिलते ही कृषि विभाग की टीम को अलर्ट कर दिया है और उन्हें भगाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं. 

गंगा बैराज के आस-पास के इलाकों में खतरा 
अभी तक टिड्डी दल को गंगा बैराज और उसके आस-पास के इलाकों में देखा गया है. किसानों की फसलों को नुकसान की आशंका से कानपुर के डीएम ने कृषि विभाग की टीमों के साथ मिलकर काम शुरू कर दिया है. उन इलाकों में टीमें और दमकल की गाड़ियों में रासायनिक लिक्विड भेजा जा चुका है, जहां इनके बैठने की आशंका है. 

कड़ी शर्तों के साथ 1 JULY से शुरू होगी चार धाम यात्रा, सिर्फ उत्तराखंड वासी ही हो सकेंगे शामिल
डीएम की ओर से लोगों से निवेदन किया गया है कि वे अपने घर के दरवाजों को बंद रखें. अगर आस-पास टिड्डी दल दिखाई दे तो धुआं करें और थाली, ढोल या सायरन की तेज ध्वनि करें. जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम पूरी तरह से इस विपदा से निपटने के लिए तैयार है.
प्रशासन की ओर से दमकल की गाड़ियों में कैमिकल भरकर तैयार रखा गया है, ताकि टिड्डियों के पहुंचने की सूचना मिलते ही इनका स्प्रे किया जाए. फिलहाल किसान थाली, ढोल, डमरू और डीजे के साथ टिड्डियों को भगाने के लिए तैयार बैठे हुए हैं. टिड्डियां खास तौर पर फसलों के हरे पत्तों को निशाना बनाती हैं, जिससे किसानों का काफी नुकसान हो जाता है. 

WATCH LIVE TV