सदन में धरना देकर चर्चाओं में आए विधायक नंद किशोर गुर्जर पर अब लगे गंभीर आरोप

लोनी नगर पालिका की चैयरमैन रंजीता धामा और उनके पति ने विधायक नंद किशोर पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

सदन में धरना देकर चर्चाओं में आए विधायक नंद किशोर गुर्जर पर अब लगे गंभीर आरोप
ज़ी उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड से बातचीत में रंजीता धामा ने लोनी विधायक नंद किशोर गुर्जर पर एक के बाद एक कई आरोप लगाए

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में विधानसभा चुनाव होने में अभी वक्त है, लेकिन बीजेपी (Uttar Pradesh BJP) के नेताओं की आपसी खींचतान अभी से सामने आने लगी है. एक तरफ लोनी से विधायक नंद किशोर गुर्जर (MLA Nand Kishor Gurjar) धरना देकर चर्चा में हैं, तो वहीं लोनी नगर पालिका की चैयरमैन रंजीता धामा और उनके पति ने विधायक नंद किशोर पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

ज़ी उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड से बातचीत में रंजीता धामा ने लोनी विधायक नंद किशोर गुर्जर पर एक के बाद एक कई आरोप लगाए. रंजीता धामा का कहना है कि नंद किशोर गुर्जर उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि नंद किशोर उनकी बढ़ती लोकप्रियता से डर गए हैं और उन्हें कई तरह से परेशान कर रहे हैं. उन पर कई तरह के झूठे मुकदमे दर्ज करवाए गए हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि वो कई अधिकारियों पर भी मुकदमे दर्ज करवा सकते हैं.

वहीं, उनके पति मनोज धामा ने एक बेहद गंभीर आरोप नंद किशोर पर लगाया, एक ऑडियो क्लिप का हवाला देते हुए मनोज ने कहा कि उस ऑडियो क्लिप में उन्हें जान से मारने की बात कही जा रही है. मनोज धामा ने बताया कि उन्होंने एक ट्वीट कर 2022 में विधानसभा चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की थी, तभी से नंद किशोर उनसे खार खाए हुए हैं. संगठन स्तर पर शिकायत किए जाने के बावजूद उनकी कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई, ऐसे में वे मुख्यमंत्री से मिलकर अपनी बात रखेंगे.

बता दें कि कुछ दिन पहले ही नंद किशोर गुर्जर अपनी ही सरकार के खिलाफ सदन में धरने पर बैठ गए थे. उनका आरोप था कि, उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है. इस पर वे सीएम योगी से मिलकर अपनी बात रखना चाहते थे. जिसके बाद झारखंड से लौटे योगी आदित्यनाथ के साथ देर रात नाराज विधायक नंद किशोर गुर्जर ने मुलाकात की थी. इसके बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने भी विधायक से मुलाकात की. दरअसल, गुर्जर ने बीजेपी के कुछ नेताओं के साथ-साथ पुलिस अधिकारियों पर उनके खिलाफ साजिश रचने और बेइज्जत करने का आरोप लगाया.